J&K : सेना की बड़ी कार्रवाई, 20 गांवों में सर्च ऑपरेशन जारी

0

जम्मू-कश्मीर के हालात दिन-ब-दिन बिगड़ते जा रहे हैं। आतंकियों ने अब पुलिसकर्मियों और उनके परिजन को निशाना बनाना शुरू कर दिया है। आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए सुरक्षाबलों ने तैयारी कर ली है। सोमवार सुबह घाटी में सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस की ओर से बड़ा सर्च ऑपरेशन चलाया गया। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, पुलवामा के 18 गांवों में आतंकियों के छिपे होने की ख़बर मिली है। इससे पहले रविवार को शोपियां जिले में सुरक्षा बलों ने तलाशी अभियान चलाया था, लेकिन तीन आतंकी भागने में सफल हो गए थे।

तीन दिन में चार आतंकी ढेर

पिछले तीन दिनों में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच लगातार मुठभेड़ जारी है। मुठभेड़ में चार आतंकी मार गए हैं। आतंकियों के खिलाफ सेना को मिली कामयाबी के बाद उन्होंने अपनी कार्रवाई तेज़ कर दी है। इससे पहले बुधवार शाम को शोपियां के अरहामा गांव में आतंकियों ने पुलिस की सर्विस राइफल लूट ली थी।

परिजन को किया था अगवा

सुरक्षाबलों की कार्रवाई से बौखलाए आतंकियों ने करीब 8 पुलिसकर्मियों के रिश्तेदारों को अगवा कर लिया था। आतंकियों ने एसएचओ नाजिर अहमद के भाई आरिफ अहमद, जम्मू-कश्मीर पुलिस में पदस्थ मोहम्मद मकबूल बट के बेटे जुबैर अहमद, पुलिसकर्मी बशीर अहमद के बेटे फैज़ान, पुलिसर्मी अब्दुल सलेम के बेटे सुमेर अहमद और डीएसपी एजाज अहमद के भाई गौहर अहमद को अगवा कर लिया था। बाद में आतंकियों ने सभी बंधकों को रिहा कर दिया।

इन गांवों में चल रहा है सर्च ऑपरेशन

रोहू, राजपुरा, पुटरीगम, मिटरिगाम, फ्रासीपुरा, जासु,  कुच्चीपुरा, चक, मिर्गुन्ड, नूररन, जागीगाम, तुर्कपुरा, कामराज़ीपुरा, ड्रबगम, हंजन, अवगुण्ड और शेखरपोरा गांवों में सर्च ऑपरेशन चला रही है।

पंचायत चुनाव बाधित

गौरतलब है कि केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर में पंचायत चुनाव को लेकर काफी सक्रियता से तैयारी कर रही है। माना जा रहा कि आतंकी संगठन कश्मीर में पंचायत चुनाव से पहले दहशत फैलाकर चुनावी प्रक्रिया को बाधित करना चाहते हैं।

Share.