क्या लोकसभा चुनाव के साथ होंगे J-K में चुनाव ?

0

जम्मू-कश्मीर में विधानसभा भंग होने के बाद राजनीतिक जगत में उथल-पुथल शुरू हो गई है| जहां राज्य के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने बताया कि एक अपवित्र गठबंधन को हटाने के लिए यह फैसला लिया गया है| वहीं केंद्र सरकार की ओर से कहा जा रहा है कि राज्यपाल सत्यपाल मलिक द्वारा यह फैसला पीडीपी, एनसी और कांग्रेस की  सरकार बनाने की गतिविधि के दबाव में नहीं लिया गया है|

गृहमंत्री ने की पीएम से मुलाक़ात

अपने चुनावी दौरे से लौटने के बाद गृहमंत्री राजनाथसिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलकर जम्मू-कश्मीर के मामले पर बातचीत की| ऐसा माना जा रहा है कि लोकसभा चुनाव के साथ ही राज्य में भी चुनाव हो सकते हैं| यह भी कहा जा रहा है कि विधानसभा पहले भी भंग हो सकती थी, लेकिन सुरक्षा कारणों और निकाय चुनाव के कारण नहीं हो पाई|

एक दिन पहले ही ले लिया था फैसला

जम्मू-कश्मीर विधानसभा भंग करने का यह फैसला राज्यपाल ने मंगलवार को ही ले लिया गया था| इस संबंध में सारी तैयारियां एक दिन पहले ही पूरी कर ली गई थी और बुधवार को ऐलान किया गया| राजभवन द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है कि राज्यपाल ने यह निर्णय अनेक सूत्रों के हवाले से प्राप्त सामग्री के आधार पर लिया|  ये भी कहा कि ज़रूरी नहीं कि राज्य के चुनाव अभी हों, ये चुनाव लोकसभा चुनाव के साथ भी कराए जा सकते हैं|

Share.