संसद सदस्यों ने फाड़ा संविधान..!

0

जम्मू-कश्मीर में पिछले कुछ दिनों से चल रही उथल-पुथल और तनाव के बाद आज केंद्र की मोदी सरकार ने संसद में धारा 370 को निरस्त करने का प्रस्ताव रखा, जिसे राष्ट्रपति की सहमति भी मिल गई है। लेकिन मोदी सरकार के इस फैसले का कई पार्टिया विरोध भी कर रही है। इस दौरान पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP MP Mir Mohammad Fayaz  ) के दो सदस्य तो गुस्से में अपना आपा ही खो बैठे और उन्होंने राज्यसभा में ही भारतीय संविधान की प्रतियां भी फाड़ दी।

Jammu Kashmir Article 370 के हटते ही आई पाक की गीदड़ भभकी

इस हंगामे के बाद मार्शलों ने पीडीपी (PDP MP Mir Mohammad Fayaz ) के इन सदस्यों को सदन से बाहर किया। लेकिन एक पीडीपी सांसद ने इस बात का विरोध जताते हुए सदन में ही अपना कुर्ता तक फाड़ लिया। आपको बता दे कि पीडीपी के ये दोनों संसद  गृहमंत्री अमित शाह द्वारा पेश उस संकल्प का विरोध कर रहे थे जिसमें  संविधान के अनुच्छेद 370 को जम्मू कश्मीर में लागू नहीं करने की बात कही गई थी। शाह ने राज्यसभा में जम्मू एवं कश्मीर राज्य पुनर्गठन विधेयक 2019 भी पेश किया है।

No Article 370 Reaction : कश्मीर के भारत में शामिल होने पर अफसोस!

आपको बता दें कि गृह मंत्री अमित शाह ने लद्दाख के लिये भी केंद्र शासित प्रदेश के गठन की घोषणा की है जहां चंडीगढ़ की तरह विधानसभा नहीं होगी। मंत्री शाह द्वारा की गई इस घोषणा में यह भी कहा गया कि कश्मीर और जम्मू डिवीजन एक अलग केंद्र शासित प्रदेश होगा जहां दिल्ली और पुडुचेरी की तरह विधानसभा होगी। गृह मंत्री अमित शाह के मुताबिक राष्ट्रपति की सहमति मिलने के बाद अनुच्छेद 370 के सभी खंड लागू नहीं होंगे।

जानिए जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने से अब क्या बदला

इस दौरान कांग्रेस समेत कई अन्य प्रमुख विपक्षी दलों ने भी इस विधेयक का विरोध करते हुए हंगामा किया। इतना ही नहीं कई विपक्षी दल तो इस मामले में धरने पर तक बैठ गए है। उल्लेखनीय है कि इससे पहले सोमवार सुबह भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल की एक घंटे लंबी बैठक आयोजित की गई थी और इस बैठक में शीर्ष नेतृत्व द्वारा जम्मू-कश्मीर से संबंधित मुद्दों पर चर्चा किये जाने की आशंका जताई गई थी।

-आयुष

Share.