जाट समुदाय ने दी सरकार को चेतावनी

0

देश में एक बार फिर से आरक्षण की मांग उठने लगी है। जाट समुदाय ने एक बार फिर आरक्षण की मांग को लेकर सरकार को आंदोलन करने की चेतावनी दी है। महाराजा सूरजमल के बलिदान दिवस पर हुए एक कार्यक्रम में विभिन्न संगठनों से जुड़े लोग शामिल हुए और जाट आरक्षण की मांग की। दलाल खाप की अध्यक्षता में बहादुरगढ़ की दीनबंधु छोटूराम धर्मशाला में एक बैठक आयोजित की गई। इस बैठक में रोहतक, झज्जर, सोनीपत, फरीदाबाद सहित छह जिलों के खाप प्रतिनिधि और जाट संगठनों से जुड़े बुद्धिजीवी सम्मिलित हुए।

इस बैठक में सर्वप्रथम महाराजा सूरजमल के बलिदान दिवस पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की गई। इसके बाद जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान मारे गए लोगों को याद किया गया और दिवंगत आत्माओं की शांति के लिए प्रार्थना की गई। इसके बाद बैठक में शामिल हुए जाट नेताओं ने सरकार से जल्द से जल्द आरक्षण देने की मांग की। जाट नेताओं ने सरकार से आरक्षण के साथ हिंसा के दौरान दर्ज किए गए मुकदमे रद्द करने की भी मांग की। जाट नेताओं ने सरकार को चेतावनी भी दी कि यदि उनकी मांगें नहीं मानी जाएंगी तो वे आंदोलन करेंगे।

गौरतलब है कि पिछले काफी समय से नौकरी में आरक्षण को लेकर जाट समुदाय हरियाणा में आंदोलन करता आ रहा है। इन आंदोलनों पर सरकार द्वारा बार-बार आश्वासन दिया जाता है, लेकिन जाट समुदाय की मांगों पर कोई विचार नहीं किया जाता। सरकार के इस रवैये के खिलाफ जाट समुदाय एक बार फिर मोर्चा खोलने को तैयार हैं।

Share.