पीएसएलवी के जरिये 31 सैटेलाइट लॉन्च

0

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने एक बड़ी कामयाबी हासिल की है| भारतीय रॉकेट ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान (पीएसएलवी) द्वारा 31 उपग्रहों को आज यानी 29 नवंबर को  श्रीहरिकोटा से लॉन्‍च किया गया| आज इसरो के अंतरिक्ष यान के साथ पीएसएलवी-सी43 के साथ 8 देशों के 30 उपग्रह भी प्रक्षेपित किए गए| पीएसएलवी 380 किलोग्राम भार वाले हाइपर स्पेक्ट्रल इमेजिंग सैटेलाइट और 30 अन्य उपग्रहों के साथ गुरुवार को सुबह 9.58 बजे अंतरिक्ष के लिए रवाना किया गया|

सभी 30 उपग्रह 504 किलोमीटर की कक्षा में स्थापित किए गए| इनमें से 23 सैटेलाइट अमरीका के हैं और बाकी ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, कोलंबिया, फिनलैंड, मलेशिया, नीदरलैंड और स्पेन के हैं|

30 अन्य उपग्रहों का कुल वजन 261.5 किलोग्राम है| प्रक्षेपण यान के रवाना होने के बाद महज 112 मिनट में संपूर्ण अभियान पूरा हो जाएगा| इसरो ने बताया कि आंध्रप्रदेश के श्रीहरिकोटा से सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से गुरुवार को सुबह नौ बजकर 58 मिनट पर प्रक्षेपण किया गया| प्रक्षेपण के लिए 28 घंटे की उलटी गिनती बुधवार तड़के पांच बज कर 58 मिनट पर शुरू की गई थी|

17 मिनट से अधिक की उड़ान भरने पर पीएसएलवी रॉकेट द्वारा हाइपर स्पेक्ट्रल इमेजिंग सेटेलाइट को कक्षा में स्थापित किया गया, जो वहां पांच साल तक रहेगा| इस उपग्रह का उद्देश्य पृथ्वी की सतह के साथ इलेक्ट्रोमैग्नेटिक स्पैक्ट्रम में इंफ्रारेड और शॉर्ट वेव इंफ्रारेड फील्ड का अध्ययन करना है| इसरो ने कहा कि इन उपग्रहों के प्रक्षेपण के लिए उसके वाणिज्यिक अंग के साथ वाणिज्यक करार किया गया है| पीएसएलवी इसरो का तीसरी पीढ़ी का प्रक्षेपण यान है|

इसरो ने लॉन्च किया जीएसएटी-29

रिलायंस जिओ ने मिलाया इसरो से हाथ, अब हर जगह चलेगा 4जी

इसरो की 7 महीनों में 19 मिशन लॉन्च करने की तैयारी

Share.