क्या धर्म के नाम पर इस्कॉन मंदिर में किया जाता है ब्रेन वॉश?

0

हरे कृष्ण मंदिर यानि इस्कॉन मंदिर एक बार फिर से विवादों में घिर गया है| कई लोगों ने मंदिर प्रबंधन पर आरोप लगाया है कि वे पढ़े-लिखे बच्चों का ब्रेनवॉश करते हैं और उन्हें संन्यासी बना देते हैं| अब अहमदाबाद के भाडज के हरे कृष्ण मंदिर पर लोगों ने सवाल उठाए हैं| कई लोग मंदिर के बाहर एकत्रित हुए और अपने बच्चे लौटाने की मांग करते रहे|

जानकारी के अनुसार, मंदिर पर धर्म और आध्यात्मिकता के नाम पर युवाओं का ब्रेनवॉश  करने का आरोप लगाया जा रहा है, जो पहले भी कई बार लग चुका है| मंदिर में आए झारखंड के रहने वाले प्रशांत सिंध के परिवार वालों ने आरोप लगाया है कि उनके बेटे का ब्रेनवॉश कर उसे लोगों से दूर किया गया है| उसकी बहन प्रीति ने बताया कि मंदिर वालों ने उसका भी ब्रेनवॉश करने की कोशिश की थी, लेकिन वे उनकी बातों में नहीं आई| अब उनका भाई सबकुछ छोड़ मंदिर आ गया है|

प्रीति ने सोशल मीडिया के माध्यम से वीडियो लोगों तक पहुंचाकर अपने भाई को वापस लाने के लिए गुहार लगाई है| ऐसे ही कई लोगों ने कहा कि उनके बच्चे भी मंदिर वालों की बातों में आकर घर छोड़कर आ गए हैं| उन्होंने बताया कि मंदिर वाले बच्चों से अकेले में मिलने नहीं देते हैं और उन्हें घर भी आने से रोकते हैं| जहां परिजन मंदिर प्रशासन पर आरोप लगा रहे हैं, वहीं उनके बच्चे जो मंदिर में रह रहे हैं उनका कहना है कि वे अपनी मर्जी से वहां रह रहे हैं|

Share.