इकबाल अंसारी को फिर मिली धमकी

0

आज यानी 6 दिसंबर को बाबरी मस्ज़िद विध्वंस के 26 साल हो चुके हैं| इसे लेकर जहां मुसलमान काला दिवस मना रहे हैं वहीं कई हिन्दू इस दिन को शौर्य दिवस के रूप में मना रहे हैं| वहीं बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी को फिर मिली धमकी है कि मामले से अलग हो जाए| उनके पास एक धमकी भरा पत्र आया है, जिसमें उन्हें जान का खतरा बताया गया|

इकबाल अंसारी को फिर से धमकी एक पत्र के माध्यम से मिली है| इसके बाद उन्होंने अपनी सुरक्षा बढ़ाए जाने की मांग की है| पुलिस ने पत्र मिलने के बाद मामले की जांच करने की बात कही है| उनके पास जो पत्र भेजा है, उसमें लिखा है, “अयोध्या में बाबरी मस्जिद का जो मुकदमा है, उसको वापस ले लिया जाए”| साथ ही उन्हें जान से मारने की भी धमकी दी है| इस मामले की जांच खुफिया विभाग के हाथों में चली गई है|

इस मामले पर इकबाल अंसारी का कहना है कि उन्हें पहले भी ऐसे धमकी भरे पत्र मिल चुके हैं, लेकिन वे इनसे डरने वाले नहीं है| अब जब मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया है तो वे पीछे नहीं हटेंगे और जो कोर्ट का फैसला होगा, उसे मानेंगे| पुलिस का मानना है कि पत्र भेजने वाला कोई भी हो सकता है| यह किसी की सोची समझी रणनीति और साजिश भी हो सकती है| पत्र के लिफाफे में बिहार के किसी अधिवक्ता का नाम भेजने वाले का लिखा हुआ, जिसकी जांच की जा रही है|

बाबरी मस्ज़िद विध्वंस ये थे सूत्रधार

राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद : कोर्ट ने सुनाया अपना फैसला

मंदिर तोड़कर बनी थी अयोध्या में बाबरी मस्जिद

Share.