हिंद महासागर से बचाया गया नेवी कमांडर को

1

‘गोल्डन ग्लोब रेस’ में भारत का प्रतिनिधित्व कर रहे नेवी अधिकारी अभिलाष टोमी रेस के दौरान दक्षिण हिंद महासागर में तूफ़ान आ जाने की वजह से घायल हो गए थे। राहत की बात है कि नेवी के कमांडर अभिलाष को हिंद महासागर से बचाव दल ने सुरक्षित बचा लिया। इस बचाव कार्य के लिए फ्रांस के जहाज की मदद ली गई।

गोल्डन ग्लोब रेस में भारत का प्रतिनिधित्व कर रहे अभिलाष टोमी रेस के दौरान दक्षिण हिंद महासागर में तूफान के चलते शुक्रवार को घायल हो गए थे। हालांकि वे सचेत थे। इसके बाद उन्हें फ्रेंच फिशिंग वेसल द्वारा शिफ्ट कर दिया गया। उन्हें सुरक्षित निकालने के लिए इंडियन नेवी के आईएनएस सतपुड़ा और ऑस्ट्रेलियाई नेवी दल ने संयुक्त ऑपरेशन चलाया। नेवी के प्रवक्ता ने सोमवार को उन्हें सुरक्षित रेस्क्यू किए जाने की पुष्टि की है। उन्हें मेडिकल ट्रीटमेंट दिया जा रहा है।

अभिलाष के पिता द्वारा जारी बयान में कहा गया कि अभिलाष होश में है, लेकिन थके हुए और डीहाइड्रेटेड हैं।”

अभिलाष को सुरक्षित बाहर निकाले जाने के बाद रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने ट्वीट किया, “यह जानकर राहत महसूस हो रही है कि नेवी अधिकारी अभिलाष टोमी को फ्रांस के जहाज ने बचा लिया है, वह होश में है और उनकी हालत बेहतर है। जहाज से उन्हें करीबी आइलैंड में ले जाया जाएगा। वहां से आईएनएस सतपुड़ा की मदद से इलाज के लिए उन्हें मॉरीशस पहुंचाया जाएगा।”

गोल्डन ग्लोब रेस के दौरान दक्षिणी हिंद महासागर के जिस हिस्से में वे मिले, उस समय समुद्र में 5 से 8 मीटर तक लहरें उठ रही थीं। तूफ़ान के कारण घायल होने के बाद टीम से उनका संपर्क भी टूट गया था। एयरक्राफ्ट पी8 आई ने कमांडर अभिलाष और उनकी बोट का सबसे पहले पता लगाया था।  संपर्क होने पर उन्होंने बताया था कि वे चोटिल हैं। नौसेना के वाइस एडमिरल गिरिश लूथरा ने बताया कि अभिलाष सिर्फ टेक्स्ट मैसेज के माध्यम से रेस के आयोजकों से संपर्क कर पा रहे हैं। उन्होंने कहा कि उनसे मुलाकात के बाद ही वे उनकी सेहत के बारे में सही-सही जानकारी दे पाएंगे।

Share.