बंद कपड़ा मिलों की झांकियों के लिए सरकार ने खोली धन की पोटली

1

अनंत चतुर्दशी के मौके पर निकलने वाले चल समारोह में बंद कपड़ा मिलों की झांकियों के लिए सरकार की ओर से दो-दो लाख की अनुदान राशि दिए जाने के आदेश जारी किए गए हैं| इस राशि से बंद कपड़ा मिलों की गणेश उत्सव समितियां झांकी निर्माण कर सकेंगी | इस संबंध में इंदौर विकास प्राधिकरण को निर्देश मिल चुके हैं, जिसके बाद अनुदान के संबंध में एक साल से छा रहे संशय के बादल दूर हो गए हैं| गत वर्ष आईडीए ने बंद कपड़ा मिलों को अनुदान राशि देते हुए इस साल राशि दिए जाने से इनकार कर दिया था|

मजदूरों ने की थी अनुदान राशि की मांग

इंदौर मिल मजदूर संघ और गणेश उत्सव समितियों से जुड़े मजदूर नेताओं ने आईडीए अध्यक्ष शंकर लालवानी से मुलाकात कर संभागायुक्त राघवेंद्रसिंह को पत्र के माध्यम से और कलेक्टर निशांत वरवड़े के समक्ष गुहार लगाते हुए अनुदान राशि दिए जाने की मांग की थी| इस मामले में सभी अधिकारियों ने सकारात्मक आश्वासन दिया था|

पांचों मिलों को मिलेगी अनुदान राशि

परंपरा को जीवित रखने में जुटे पांच बंद कपड़ा मिलों की गणेश उत्सव समितियों को दो -दो लाख रुपयों की अनुदान राशि दी जाएगी|  इंदौर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष शंकर लालवानी ने बताया कि राज्य शासन ने अनंत चतुर्दशी चल समारोह में निकलने वाली झांकियों के लिए बंद मिलों को अनुदान राशि शासन अनुमति के अभाव में देना संभव नहीं हो पा रहा था, लेकिन अब परंपरागत रूप से इंदौर की सांस्कृतिक विरासत को अक्षुण्ण बनाए रखने के लिए प्राधिकरण अनुदान देगा|

हस्ताक्षर अभियान: 50 हज़ार लोगों का मिला समर्थन

 

Share.