टीआई की प्रताड़ना से सिपाही की मौत, एएसआई भर्ती

0

इंदौर पुलिस पर एक बार फिर आरोप लगे हैं। इंदौर पुलिस महकमे पर अधिकारियों द्वारा अपने कर्मचारियों पर दबाव बनाने और प्रताड़ित करने के आरोप लगे हैं। एक पुलिसकर्मी की मौत के बाद परिवार ने मौत के पीछे थाना प्रभारी को जिम्मेदार ठहराया है। सदर बाज़ार थाने में पदस्थ एक सिपाही की इलाज के दौरान गोकुलदास अस्पताल में मौत हो गई । वहीं एक अन्य एएसआई अस्पताल में भर्ती है। सिपाही की मौत और एएसआई के बीमार होकर भर्ती होने के पीछे टीआई द्वारा जबरन प्रताड़ित करना ,गाली-गलौज करना और अधिक ड्यूटी लगाना कारण बताया जा रहा है।

बताया जा रहा है कि थाने के स्टाफ में टीआई की कार्यप्रणाली से स्टाफ में अंदरूनी विरोध है। इसके बावजूद थाना प्रभारी के खिलाफ कोई पुलिसकर्मी खुलकर बोलने को तैयार नहीं है। बताया जा रहा है कि थाना प्रभारी सविता चौधरी के पति भी डीएसपी है, इस दबाव के चलते उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई भी नहीं हो रही है। बताया यह भी जा रहा है कि सिपाही की कई बार डबल ड्यूटी लगाई गई थी। इसके अलावा रोजनामचे में टीआई ने कोमलसिंह के विरुद्ध रिपोर्ट भी लिखी थी। टीआई ने सिपाही से गाली-गलौज भी की थी ।

टीआई चौधरी की प्रताड़ना से कोमलसिंह काफ़ी तनाव में रहने लगे थे । ख़बरों के अनुसार, थाना प्रभारी मासिक कमाई के लिए भी दबाव बना रही थी । इसके बाद विभाग के वरिष्ठ अधिकारी से भी कोमलसिंह ने मिलने का प्रयास किया था, लेकिन उन्हें कोई मदद नहीं मिली। इसके अलावा दीपक नागले नाम का एएसआई भी तनाव के कारण बीमार होकर हॉस्पीटल मे भर्ती है। अब सिपाही की मौत के बाद विभाग में इस तरह दबाव बनाकर काम करवाने अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग उठने लगी है।

Indore: युवती से हुई पांच लाख की ठगी

Indore : SBI में गोली चलने से अफरा-तफरी

इंदौर: एमबीए की छात्रा ने की आत्महत्या

Share.