इंदौर: कहीं गुरु देवकीनंदन महाराज का पुतला जलाया तो कहीं गिरफ्तारी का विरोध

0

आध्यात्मिक गुरु देवकीनंदन महाराज को मंगलवार को सवर्ण समाज के समर्थन में प्रेस कॉन्फ्रेंस से पहले गिरफ्तार कर लिया गया था| इसके बाद उनके समर्थकों द्वारा प्रदर्शन करना शुरू कर दिया गया| हालांकि उन्हें गिरफ्तारी के बाद जल्द ही रिहा कर दिया गया था| इस संबंध में इंदौर में भी कई लोगों ने प्रदर्शन किया| कई लोगों ने उनके खिलाफ तो कई ने उनकी गिरफ्तारी के विरोध में प्रदर्शन किया| कहीं उनका पुतला जलाया गया तो कहीं प्रदर्शन कर गिरफ्तारी के विरोध में राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन दिया गया|

राजबाड़ा पर जलाया पुतला

राजबाड़ा पर आरक्षित वर्ग के सदस्यों ने देवकीनंदन ठाकुर का पुतला जलाया गया| भीम सेना के सदस्यों ने इसी के साथ नारेबाज़ी भी की| गुरु देवकीनंदन महाराज सवर्ण समाज के पक्ष में खुलकर बोलते हैं इसलिए आरक्षित वर्ग के लोग उनका विरोध कर रहे हैं| वे एससी-एसटी एक्ट का विरोध करते हैं और अधिनियम को बदलने की मांग करते हैं| उन पर आरोप लगाया गया कि वे हिन्दू धर्म को बांटने की कोशिश कर रहे हैं|

सपाक्स ने राष्ट्रपति को सौंपा ज्ञापन

जहां एक ओर शहर में गुरु देवकीनंदन महाराज का विरोध किया जा रहा है वहीं सवर्ण समाज के लोग उनके समर्थन में उतर आए| दरअसल, बुधवार को महाराज को गिरफ्तार किए जाने के विरोध में सवर्ण समाज (सपाक्स) ने प्रदर्शन किया और राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन दिया| ज्ञापन के माध्यम से मांग की है कि देवकीनन्दन ठाकुर की गिरफ्तारी गलत है| उन्होंने सरकार को चेतावनी भी दी है कि यदि एक्ट में किया गया संशोधन वापस नहीं लिया गया तो सरकार को उसका नुकसान भुगतना पड़ेगा|

Share.