इंदौर: कालाकुंड और पातालपानी रेलवे स्टेशन होंगे बंद!

0

इंदौर के पास पर्यटन, झरने और लाजवाब कलाकंद के लिए फेमस कालाकुंड और पातालपानी रेलवे स्टेशन अब बंद होने के कगार पर आ गए हैं| ब्रिटिश जमाने के बने इन दोनों रेलवे स्टेशन के पास हरियाली के सभी कायल हैं| दूर-दूर से लोग घूमने पहुंचते हैं| पहाड़ काटकर बनाई गई रेलवे लाइन के पास से जब भी कोई ट्रेन होकर गुजरती है तो दो इंजनों की आवश्यकता पड़ती है| अब इन लाइन पर बड़ी लाइन बनाने की तैयारी की जा रही है|

9500 पेड़ों की कटाई

बड़ी लाइन के निर्माण में बीच में आ रहे  9500 पेड़ों की कटाई के लिए वन विभाग ने अपनी सहमति दे दी है| वहीं यह भी कहा जा रहा है कि वन विभाग बारिश के बाद नए सिरे से परीक्षण करेगा| महू से सनावद तक जाने वाली इस बड़ी लाइन के निर्माण के लिए पिछले दो सालों से तैयारियां की जा रही है|

अब महू से लगभग 23 किलोमीटर दूर बढ़िया में नया रेलवे स्टेशन बनाया जाएगा| फिलहाल जो छोटी लाइन से ट्रेन चलाई जा रही है, वह कालाकुंड और पातालपानी रेलवे स्टेशन पर भी रुकती थी| वहां तक पहुंचने के लिए ट्रेन को चार बोगदों से होकर गुजरना पड़ता है| जब भी ट्रेन बोगदों से होकर जाती है, तब दो इंजन लगाए जाते हैं| बड़ी लाइन बनने के बाद ऐसा नहीं होगा|

दबे स्वर में विरोध

पातालपानी का झरना और पर्यटन स्थल और कालाकुंड का कलाकंद पूरे देश में प्रसिद्ध है, लेकिन बड़ी लाइन बन जाने से लोग वहां आसानी से नहीं पहुंच पाएंगे| दोनों रेलवे स्टेशन को खत्म करने के निर्णय का आसपास रहने वाली जनता दबे स्वर में विरोध कर रही है|

Share.