चोइथराम मंडी में हंगामे के बीच हुई कार्रवाई

0

शहर की चोइथराम मंडी में शुक्रवार को हंगामेदार माहौल रहा| यहां मंडी प्रशासन ने कड़ी कार्रवाई करते हुए अवैध कब्जों के साथ -साथ अतिक्रमण हटाया। हंगामे और विरोध के बीच चली कार्रवाई के दौरान कई बार अप्रिय स्थिति भी बनती रही|  अवैध कब्जों को लेकर लंबे समय से किसान मंडी प्रशासन को शिकायत कर रहे थे, जिसके बाद बड़ी कार्रवाई की गई| कार्रवाई के दौरान सुरक्षा के प्रबंध किए गए थे|

व्यापारियों का कब्ज़ा

चोइथराम मंडी में किसानों के लिए बनाए गए शेड पर व्यापारियों ने कब्ज़ा कर रखा था, जिसकी शिकायत मंडी प्रशासक से की गई थी| मंडी में इस तरह के अनेक मामले थे| किसानों ने यह भी आरोप लगाया था कि इस मामले में कुछ कहने पर लोग मारपीट पर उतारू हो जाते थे| बताया जा रहा है कि कुछ दिन पहले इसी बात को लेकर चाकूबाजी की घटना भी हो चुकी है|

चोइथराम मंडी प्रशासन हुआ गंभीर

चोइथराम मंडी में बढ़ती अराजकता को देखते हुए मंडी प्रशासन गंभीर हुआ और शुक्रवार को अवैध कब्जों के खिलाफ मुहिम शुरू की गई | इस मुहिम के दौरान  कुछ लोगों ने मंडी के अंदर सड़क पर माल की गाड़ियां खड़ी कर मार्ग अवरुद्ध किया| इसके बाद मंडी प्रशासन ने चेतावनी देकर हटने को कहा और कार्रवाई जारी रखी | इस कार्रवाई के दौरान मंडी के सुरक्षाकर्मियों ने अवैध कब्जे की नीयत से शेड में रखे, खाली कैरेट और लोहे के ड्रमों को शेड से बाहर फेंक दिया। इस दौरान कुछ व्यापारियों ने विरोध करते हुए देर तक हंगामा किया|

मंडी प्रभारी ने किया मामला शांत

चोइथराम मंडी में शेड से कब्जे हटाने से नाराज़ कुछ व्यापारियों ने मौजूद लोगों से अभद्रता की और जान से मारने की धमकी तक दे डाली। इस बीच मंडी प्रभारी पर्वतसिंह सिसोदिया ने मामला शांत करवाया। मंडी सचिव सतीश पटेल ने बताया कि शिकायत के बाद यह कार्रवाई की गई है | इससे पहले कई बार व्यापारियों को कब्जे हटाने के लिए कहा भी गया लेकिन जब नही सुना गया तो कार्रवाई करना पड़ी।

Share.