पिछले जन्म की जीवनसाथी बताकर छात्रा के अपहरण की कोशिश

0

इंदौर में 21 वर्षीय एक इंजीनियरिंग छात्रा को अपने पिछले जन्म की जीवनसाथी बताकर अपहरण करने का एक मामला सामने आया है। इस घटना के मुख्य आरोपी मुंबई निवासी महिला ट्यूटर और मुंबई पुलिस के आरक्षक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। तिलक नगर पुलिस थाना प्रभारी स्वराज डाबी ने मीडिया को बताया कि आरोपियों की पहचान वेरोनिका बोरोड़े (35) और आनंद वसंत मुढ़े (35) के रूप में हुई है। वेरोनिका ट्यूटर है वहीं मुढ़े मुंबई पुलिस में आरक्षक है।

वेरोनिका और आनंद पर आरोप है कि दोनों पीपल्याहाना क्षेत्र में इंजीनियरिंग छात्रा के घर पहुंचे थे। दोनों उसे अपने साथ ले जाने का दबाव बना रहे थे। सूचना मिलने पर पुलिस छात्रा के घर पहुंच गई। पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। थाना प्रभारी ने कहा कि जांच और पूछताछ के बाद ही स्पष्ट हो सकेगा कि वे छात्रा को क्यों अगवा करना चाहते थे। हमने मुंबई पुलिस को इस मामले की सूचना दे दी है। दोनों आरोपियों को स्थानीय अदालत में पेश किया गया। अदालत ने उन्हें 11 सितंबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया है।

छात्रा स्थानीय निजी संस्थान से इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रही है। छात्रा ने बताया कि वह अपनी मां के कैंसर का इलाज कराने के लिए फरवरी में मुंबई के टाटा मेमोरियल अस्पताल गई थी। इस दौरान उसकी मुलाकात वेरोनिका से हुई थी। औपचारिक परिचय के बाद दोनों के बीच मोबाइल नंबरों का लेन-देन हो गया था। छात्रा के मुताबिक वेरोनिका ने छात्रा को फोन पर कहा कि वे दोनों पिछले जन्म में पति-पत्नी थे इसलिए दोनों को साथ रहना चाहिए। वेरोनिका पिछले जन्म के रिश्ते की झूठी कहानी बताकर इंजीनियरिंग छात्रा को मुंबई आकर उसके साथ रहने के लिए दबाव बना रही थी, लेकिन छात्रा ने साफ इंकार कर दिया।

छात्रा के अनुसार, उसने वेरोनिका का फोन नंबर भी ब्लॉक कर दिया। फिर वह अलग-अलग नंबरों से कॉल कर परेशान करती रही। वह उसके कॉलेज भी पहुंच गई थी और उसकी तलाश की थी। हालांकि उस दिन छात्रा कॉलेज नहीं गई थी। एक बार जब उसके भाई ने वेरोनिका को फोन पर डांटा तो उसने उसे पैसे का भी लालच दिया।

इंदौर के एक व्यापारी के घर चोरी, नौकर पर शक

सीएस फाउंडेशन: इंदौर की बेटी ने हासिल की पहली रैंक

Share.