याचिका इंदौर बेंच को ट्रांसफर करने से इनकार

0

भिंड जिले के गोहद के पास छरैंटा गांव में 14 अप्रैल 2009 को लोकसभा चुनाव में चुनावी सभा से लौटते समय कांग्रेस विधायक माखनलाल जाटव की गोली मारकर ह्त्या कर दी गई थी| जाटव की हत्या के मामले में आरोपी मंत्री लालसिंह आर्य का प्रकरण एक बार फिर उलझ गया है।

हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस ने ग्वालियर हाईकोर्ट में चल रही याचिका को इंदौर बेंच में ट्रांसफर करने से इनकार कर दिया है। चीफ जस्टिस ने तकनीकी कारणों से मामले को इंदौर हाई कोर्ट बेंच को ट्रांसफर करना अपने अधिकार क्षेत्र से बाहर बताया है। अब इंदौर के साथ ग्वालियर हाईकोर्ट में भी याचिकाओं पर समानांतर सुनवाई चल सकती है या फिर दोनों याचिकाएं जबलपुर स्थानांतरित भी की जा सकती हैं। लालसिंह आर्य लगातार यह प्रयास कर रहे हैं कि मामले की सुनवाई इंदौर में हो।

सुप्रीम कोर्ट के 5 मार्च को दिए निर्देशानुसार हाईकोर्ट को एक माह के भीतर फैसला लेना है। ऐसे में अदालत से आया विपरीत फैसला आर्य के लिए चुनाव से पहले मुसीबत का सबब बन सकता है। हत्याकांड में आरोपी आर्य ने भिंड एडीजे कोर्ट के गिरफ्तारी वारंट के खिलाफ ग्वालियर हाईकोर्ट में एक रिवीजन पिटीशन दायर की थी, जिस पर फैसला आना बाकी है।

Share.