एक और सर्जिकल स्ट्राइक करने के सवाल पर यह बोले सेनाध्यक्ष

1

जम्मू-कश्मीर के मौजूदा हालात देखते हुए भारतीय सेना के प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा है कि अभी जम्मू-कश्मीर में जैसे हालात हैं, उन्हें देखते हुए एक और सर्जिकल स्ट्राइक की ज़रूरत है।” यह बात रावत ने एक मीडिया वार्तालाप के दौरान कही। साथ ही उन्होंने कहा कि एलओसी के आतंकवादी ठिकानों पर एक और सर्जिकल स्ट्राइक की ज़रूरत है।” साथ ही जनरल रावत ने पाकिस्तान की तरफ इशारा करते हुए कहा, “आप बार-बार खुद बोलते हैं कि हम अपनी सरहद का इस्तेमाल किसी दूसरे देश के इलाके में आतंकवादी गतिविधि के खिलाफ होने नहीं देंगे, पर हम देख रहे हैं कि आतंकवादी गतिविधि हो रही है और आतंकी सरहद के पार से आ रहा है।”

हालांकि सर्जिकल स्ट्राइक कैसे होगा, उसकी कोई जानकारी देने से रावत ने इनकार कर दिया। इससे पहले रावत ने पाकिस्तान से बात करने से मना कर दिया था और इसका कारण उन्होंने पाकिस्तान में पनप रहे आतंकवाद को बताया था। थलसेना अध्यक्ष बिपिन रावत ने कहा है कि सर्जिकल स्ट्राइक सरप्राइज देने का हथियार है, इसे सरप्राइज ही रहने दें।

हाल ही में पाकिस्तान के नए पीएम इमरान ने भारत के पीएम को चिट्ठी लिखकर बातचीत का प्रस्ताव दिया था, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया।

इस मुद्दे पर रावत ने कहा, “शांति वार्ता और आतंकवाद साथ-साथ नहीं हो सकते। सरकार ने वार्ता रद्द करके सही फैसला किया है। हमारी सरकार की नीति है कि बातचीत और आतंकवाद साथ-साथ नहीं हो सकते। हमने पाकिस्तान को साफ-साफ संदेश दिया है कि वह कुछ ऐसा करके दिखाए, जिससे साबित हो कि वह आतंकवाद को बढ़ावा नहीं दे रहा है।”

पाक में सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान कमांडो की यह चाल कारगर साबित  

सर्जिकल स्ट्राइक का दिया सबूत

Share.