अब ईरान को रुपए देकर तेल खरीदेगा भारत

0

भारत ने कच्चे तेल के आयात को लेकर ईरान के साथ एक अहम डील की है। अब ईरान को कच्चे तेल का भुगतान रुपए में किया जाएगा। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय रिफाइनरी कंपनियां, नेशनल ईरानियन ऑइल कंपनी (एनआईओसी) के यूको बैंक खाते में रुपए में भुगतान करेंगी। बता दें कि अमरीका ने भारत और सात अन्य देशों को प्रतिबंध के बावजूद ईरान से कच्चा तेल खरीदने की छूट दी है।

अमरीकी प्रतिबंधों के बावजूद भारत द्वारा ईरान को खाद्यान्न, दवाओं और चिकित्सा उपकरणों का निर्यात किया जा सकता है। तेल के भुगतान की आधी राशि निर्यात से मिले रुपए से की जाएगी। भारत को अमरीका से यह छूट आयात घटाने तथा एस्क्रो भुगतान के बाद मिली है। इस वर्ष भारत का ईरान से कच्चे तेल का औसत आयात 5,60,000 बैरल प्रतिदिन रहा है।

रिपोर्ट के मुताबिक, छूट के तहत भारत ने अपनी तेल खरीद को 2017-18 वित्त वर्ष में खरीदे गए 4.52 लाख बैरल्स प्रतिदिन से घटाकर 3 लाख प्रतिदिन तक सीमित कर दिया है। भारत की दो रिफाइनरियां इंडियन ऑइल कॉर्पोरेशन और मंगलोर रिफाइनरी एंड पेट्रोकेमिकल्स लिमिटेड ने ईरान से नवंबर और दिसंबर में 1.25 मिलियन टन तेल खरीदा है। भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा तेल उपभोक्ता है, जो अपनी ज़रूरतों का 80 फीसदी तेल आयात से पूरा करता है। वहीं, इराक और सऊदी अरब के बाद ईरान तीसरा सबसे बड़ा तेल आपूर्तिकर्ता देश है और कुल ज़रूरतों का 10 फीसदी योगदान करता है।

Share.