अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद को ढूंढने में भारत की मदद करेगा अमरीका

0

दुनिया के दो शक्तिशाली देश अब एक साथ आकर काम करने को तैयार हैं| भारत और अमरीका के बीच गुरुवार को हुई साझेदारी के बाद कहा जा रहा है कि अब दोस्ती की नई कहानी लिखी जाएगी| इससे दुनिया के सामने शक्तिशाली देशों की ताकत सामने आएगी| वहीं अब अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद इब्राहिम को ढूंढने के लिए भी अमरीका भारत की मदद को तैयार है|

भारत और अमरीका के बीच गुरुवार को हुई बैठक में पाकिस्तान समर्थित आतंकवाद को खत्म करने पर चर्चा हुई| इस समस्या से निपटने के लिए भी दोनों देश एकजुट होकर काम करेंगे| इस फैसले के अंतर्गत कई आतंकी संगठनों के नामों की सूची बनाई गई, जिनमें दाऊद इब्राहिम की डी-कंपनी का नाम भी सम्मिलित है| ‘2+2 डायलॉग’ के अंतर्गत ये फैसले लिए गए हैं|

कहा जा रहा है कि अमरीका ने इसलिए भी दाउद को पकड़ने के लिए हामी भर दी क्योंकि उसकी कुछ संपत्तियां अमरीका में भी हैं| विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण, अमरीकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो और रक्षामंत्री जिम मैटिस द्वारा संयुक्त बयान में कहा गया, “मंत्रियों ने क्षेत्र में किसी भी प्रकार के छद्म आतंकी हमले की भर्त्सना की और इस संदर्भ में उन्होंने पाकिस्तान से यह सुनिश्चित करने को कहा कि उसके नियंत्रण वाले क्षेत्र का इस्तेमाल दूसरे देशों पर आतंकी हमले करने के लिए न हो|”

इन आतंकी संगठनों के नाम हैं शामिल

अलकायदा, आईएसआईएस, लश्करे तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद, हिजबुल मुजाहिद्दीन, हक्कानी नेटवर्क, तहरीक-आई-तालिबान पाकिस्तान, डी-कंपनी आदि|

Share.