अटकाने, लटकाने और भटकाने की संस्‍कृति गलत ..

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज यानी 19 नवंबर को गुरुग्राम में कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन किया| इस दौरान उन्होंने कांग्रेस पर जमकर निशाने साधे| उन्होंने बताया कि दिल्ली में प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ते ही जा रहा है, जिस पर काबू पाने के लिए कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेस-वे का निर्माण किया गया है|

प्रधानमंत्री ने वेस्‍टर्न पेरीफेरल एक्‍सप्रेस यानी कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेस-वे के उद्घाटन के बाद सभी को शुभकामना दी और कहा, “लोग वही हैं, काम करने वाले वही हैं, लेकिन जब इच्छाशक्ति हो, संकल्पशक्ति हो तो कोई भी लक्ष्य हासिल किया जा सकता है| यही कारण है कि जहां साल 2014 से पहले देश में एक दिन में सिर्फ 12 किलोमीटर हाईवे बनते थे, आज लगभग 27 किलोमीटर हाईवे का प्रतिदिन निर्माण हो रहा है|”

उन्होंने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा, “अटकाने, लटकाने और भटकाने की संस्‍कृति ने हरियाणा का विकास रोका| यदि इसे समय पर पूरा कर लिया गया होता तो दिल्‍ली के ट्रैफिक का यह हाल न होता| हरियाणा का वल्‍लभगढ़ भी अब मेट्रो के नक्‍शे पर आ रहा है| वल्‍लभगढ़ मेट्रो लिंक से समय और पैसे बचेंगे| इस वेस्‍टर्न पेरीफेरल एक्‍सप्रेस वे के जरिये प्रदूषण से लड़ने में मदद मिलेगी| इससे प्रदूषण घटेगा, इस लिहाज से यह एक्‍सप्रेस वे अर्थव्‍यवस्‍था, पर्यावरण, पर्यटन और रहन-सहन में मदद देगा|”

देश को समर्पित करने का मौका

पीएम ने कहा, “अभी कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेस-वे को देश को समर्पित करने का मौका मिला है| इसका पहला चरण 2 साल पहले पूरा हो गया था| दूसरा चरण, जो कुंडली से मानेसर तक 83 किलोमीटर लंबा है, उसका आज लोकार्पण किया गया है| इसके साथ ही अब 135 किमी का यह एक्सप्रेस वे पूरा हो गया है| पहले की सरकार में जिस तरह काम हुआ, वो एक केस स्टडी है कि कैसे जनता के पैसे को बर्बाद किया जाता है| जब यह प्रोजेक्ट शुरू हुआ था तो अनुमान लगाया गया था कि इस पर 1200 करोड़ रुपए खर्च होंगे| आज इतने वर्षों की देरी की वजह से इसकी लागत बढ़कर 3 गुना से ज्यादा हो गई| इस एक्सप्रेस-वे का इस्तेमाल कामनवेल्थ गेम्स में होना था, लेकिन कामनवेल्थ खेल का जो हश्र किया गया, वहीं कहानी इस एक्सप्रेस वे की भी है|”

Share.