शक के घेरे में दूसरा सुसाइड नोट

0

मध्यप्रदेश के इंदौर में आध्यात्मिक गुरु भय्यू महाराज ने मंगलवार को खुद की लाइसेंसी रिवॉल्वर से गोली मारकर आत्महत्या कर ली| एक तरफ जहां भय्यू महाराज के परिजन एवं भक्त उनकी आत्महत्या से दुखी हैं वहीं दूसरी ओर उनके द्वारा लिखा गया सुसाइड नोट भी शक के घेरे में है|

दरअसल, भय्यू महाराज द्वारा लिखे दो सुसाइड नोट मिले हैं, जिनमें से पहला नोट मंगलवार को सार्वजनिक किया गया तथा दूसरा नोट बुधवार को| पहले नोट में भय्यू महाराज ने अपने परिवार को संभालने के लिए कहा कि कोई आकर उनका ध्यान रखें| वहीं दूसरे पत्र में उन्होंने अपने सारे अधिकार और सम्पत्ति का जिम्मा अपने 16 वर्ष पुराने सेवक विनायक को सौंप दिया| इस पत्र से जहां एक ओर परिजन हैरान हैं, वहीं दूसरी ओर ‘श्रीसद्गुरु दत्त धार्मिक एवं पारमार्थिक ट्रस्ट’ के सदस्य भी चिंतित हैं| इस पत्र की सत्यता पर भी सवाल उठाए जा रहे हैं|

पुलिस हैंडराइटिंग एक्सपर्ट्स के जरिये भय्यू महाराज के कथित सुसाइड नोट की लिखावट का मिलान कर रही है| परिवार एवं रिश्तेदारों का कहना है कि भय्यू महाराज भी सभी मामलों में विनायक के दखल से खुश नहीं थे|

Share.