सरकार ने मंदिर नहीं बनाया तो सत्ता खो देगी – ठाकरे

0

अगले वर्ष होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले शिवसेना ने केंद्र सरकार को राम मंदिर के मुद्दे पर निशाने पर लिया है। शिवसेना ने मंदिर पर अपना रुख साफ करते हुए मोदी सरकार से कहा कि चाहे कानून बनाएं या अध्यादेश लाया जाए, परंतु अयोध्या में मंदिर जल्द बनना चाहिए। अयोध्या के दो दिवसीय दौरे के दूसरे दिन शिवसेना प्रमुख ने रविवार को आरोप लगाया कि पार्टियां चुनाव के समय राम-राम करती हैं और फिर बाद में आराम से बैठ जाती हैं।

उद्धव ठाकरे ने कहा कि मंदिर नहीं बना सकते तो हमसे कहो कि नहीं हो पाएगा। चुनाव के समय मंदिर का मुद्दा नहीं उठाओ। अब हिंदू ताकतवर हो गया है, हिंदू मार नहीं खाएगा। यह सरकार मंदिर नहीं बनाएगी तो कौन बनाएग। यदि मामला अदालत के पास ही जाना है तो चुनाव प्रचार के समय उसे इस्तेमाल न करें। बता दो कि यह भी हमारा एक चुनावी जुमला था।

उन्होंने कहा कि शनिवार को जिन संतों ने मुझे आशीर्वाद दिया मैंने उन्हें बताया कि जो काम हम शुरू करने वाले थे, वह उनके आशीर्वाद के बिना नहीं हो सकता। मंदिर कब बनेगा,  उस तारीख का ऐलान होना चाहिए। हिंदुओं की भावनाओं के साथ खिलवाड़ नहीं होना चाहिए।

रामलला के दर्शन के बाद रविवार सुबह उद्धव ने कहा कि अब हिंदुओं की भावनाओं के साथ खिलवाड़ नहीं होना चाहिए। अब चाहे कानून बनाओ, चाहे अध्यादेश लाओ, लेकिन जल्द मंदिर बनाओ। उन्होंने कहा कि राम जन्मभूमि के दर्शन के लिए जाते वक्त उन्हें लगा कि वे जेल में जा रहे हैं। आज सरकार बहुत ताकतवर है, यदि वह चाहे तो मंदिर बन सकता है।

Share.