हिंदू-मुस्लिम समुदाय ने साथ आकर शिफ्ट कराए मंदिर-मस्जिद

0

हिंदू और मुस्लिम समुदाय के बीच मंदिर-मस्जिद की लड़ाई सामने आती रहती है, लेकिन उत्तरप्रदेश के जालौन जिले में हिंदू और मुस्लिम समुदाय के लोगों ने एक अनोखी मिसाल पेश की है। समाज के हित के लिए दोनों समुदाय के लोगों ने सड़क निर्माण प्रोजेक्ट के लिए आपसी सहमति देकर अपने धार्मिक स्थलों को दूसरे स्थानों पर शिफ्ट करने की सहमति दे दी, जिसके बाद 14 साल से रुका झांसी-लखनऊ राजमार्ग के विस्तारीकरण का काम शुरू होगा।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, जिले के राजमार्ग के प्रस्तावित डिज़ाइन में मार्ग के बीच दोनों ही धर्मों के धार्मिक स्थल मंदिर-मस्जिद होने के कारण बीते 14 वर्षों से सड़क का निर्माण नहीं हो रहा था। कुछ दिनों पहले दोनों ही समुदायों ने इन धर्मस्थलों को दूसरे स्थान पर शिफ्ट करने की दिशा में कदम उठाया। इसके बाद प्रशासनिक अफसरों की मौजूदगी में इन्हें अन्य स्थानों पर शिफ्ट करवाया गया। पूरी प्रक्रिया शांतिपूर्ण तरीके से पूरी हुई, जिसमें दो मंदिर, एक मस्जिद और एक मज़ार को अलग-अलग स्थानों पर शिफ्ट किया गया।

अधिकारियों के अनुसार, जिन धर्मस्थलों को शिफ्ट करवाया गया, वे सभी 50 से 100 वर्ष पहले यहां पर बनाए गए थे। इन धर्मस्थलों के पास स्थित राजमार्ग पर अक्सर वाहनों का लंबा जाम लगा रहता था, जिसके कारण लोगों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता था। वहीं जाम के कारण कई बार हादसे भी हो जाते थे, जिस वजह से प्रशासनिक अधिकारी राजमार्ग का विस्तारीकरण कराना चाहते थे। इस पूरी योजना में सड़क किनारे बने धर्मस्थलों को हटाना एक बड़ी चुनौती थी। पर दोनों ही समुदाय के लोगों ने अपने-अपने धर्मस्थलों को शिफ्ट करने पर आम सहमति बनाई, जिसके बाद इन्हें शिफ्ट किया गया।

Share.