ममता बनर्जी को हाईकोर्ट से झटका

1

पश्चिम बंगाल की टीएमसी सरकार ने राज्य में भारतीय जनता पार्टी की रथयात्रा निकालने की अर्जी को ख़ारिज कर दिया था। भारतीय जनता पार्टी ने राज्य सरकार के इस फैसले की कड़ी निंदा की थी। भाजपा के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने इस मामले में कहा था कि सरकार के इस फैसले के खिलाफ उनकी पार्टी हाईकोर्ट में अपील करेगी। भारतीय जनता पार्टी के रथयात्रा के मुद्दे पर हाईकोर्ट ने बंगाल की ममता सरकार को जोरदार झटका दिया है। हाईकोर्ट ने भाजपा से रथयात्रा के संबंध में संभावित तिथियां मांगी हैं।

हाईकोर्ट ने भारतीय जनता पार्टी से यात्रा की 3 संभावित तिथियां मांगी हैं| साथ ही कोर्ट ने 13 दिसंबर को हुई बैठक का फुटेज भी मांगा है। गौरतलब है कि 13 दिसंबर को राज्य सरकार और भाजपा प्रतिनिधियों की बैठक आयोजित हुई थी। हाईकोर्ट ने अगली सुनवाई बुधवार को तय की है। हाईकोर्ट के इस फैसले से ममता सरकार को गहरा झटका लगा है।

इस पूरे मामले में पश्चिम बंगाल सरकार का कहना है कि उसे ख़ुफ़िया तौर पर यह जानकारी मिली थी कि राज्य के जिन हिस्सों में भाजपा की रथयात्रा प्रस्तावित की गई है, उन हिस्सों में इस रथयात्रा से सांप्रदायिक माहौल खराब हो सकता है। इस जानकारी के आधार पर टीएमसी सरकार ने भाजपा की रथयात्रा की अर्जी को नामंजूर कर दिया था। टीएमसी के इस फैसले के बाद भाजपा के दिलीप घोष ने राज्य सरकार के इस फैसले को पूरी तरह से अलोकतांत्रिक बताया था।

ममता बनर्जी को कोर्ट की झटका

हर कोई महागठबंधन का चेहरा – ममता बनर्जी

अमित शाह : हम बंगाल नहीं ममता विरोधी, घुसपैठियों को भगाएंगे

Share.