हाथरस के आरोपियों ने खत में लिखा,,,

0

खुद को बेकसूर साबित करने के लिए हाथरस गैंगरेप कांड के आरोपियों ने पुलिस अधीक्षक (एसपी) को चिट्ठी लिखी है.अपराधियों ने अपने खत में खुद को बेगुनाह बताते हुए इस मामले को ऑनर किलिंग का मामला बताया है.इस पर पीड़िता की भाभी, मां और पिता ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि हमारे खिलाफ साजिश की जा रही है. भाभी ने कहा कि उसको (पीड़िता) चुपके से जला दिया. अब हम लोगों को जहर दे दो.

दो आरोपियों रामू और रवि की मां ने कहा कि हमारे दोनों बेटे निर्दोष हैं. उनको बाद में फंसाया गया है. चिट्ठी में जो लिखा है, वह सही होगा लेकिन हमने यह नहीं देखा है कि वह कब मिलने जाते थे और कब नहीं जाते थे. मुख्य आरोपी संदीप ने एसपी हाथरस को एक चिट्ठी में लिखा है कि पीड़िता के साथ मेरी दोस्ती थी. मुलाकात के साथ मेरी कभी-कभी उससे फोन पर बात हो जाती थी. मेरी यह दोस्ती उसके घर वालों को पसंद न थी.

संदीप ने अपने खत में आगे, लिखा-

घटनाके दिन पीड़िता ने मुझे मिलने के लिए खेत में बुलाया था, जब मैं वहां गया तो पीड़िता के साथ उसकी मां और भाई मौजूद थे.

संदीप ने कहा कि पीड़िता के कहने पर मैं अपने घर चला गया. अपने पिता के साथ पशुओं को पानी पिला रहा था, तभी मुझे खबर मिली कि पीड़िता की मां और उसके भाई ने पिटाई की है. उसे गंभीर चोट आई थी. बाद में उसकी मौत हो गई. संदीप ने कहा कि मैंने कभी भी पीड़िता तो मारा नहीं है और न ही कोई गलत काम किया.

हाथरस:सत्य-असत्य तय करती मीडिया, पुलिस और सरकार

संदीप मैं अपने खत में यह भी लिखा है कि इस मामले में हम निर्दोष हैं. मेरे रिश्तेदार रवि और शमू को भी फंसाया गया. साथ ही लवकुश का नाम भी डाला गया है. हम चारों निर्दोष हैं और पूरे मामले की निष्पक्ष जांच की मांग करते हैं. हाथरस जेल अधीक्षक ने चिट्ठी लिखे जाने की पुष्टि की है.

Share.