हैदराबाद डबल ब्लास्ट में 2 आरोपियों को फांसी, एक को उम्रकैद  

0

25 अगस्त 2007 का वो दिन शायद कोई नहीं भूल सकता, जब निजाम का शहर धमाकों से दहल गया था| इतिहास में दर्ज वह काला दिन, जब डबल ब्लास्ट के कारण कई बेगुनाहों की मौत हो गई थी| खूंखार आतंकी संगठन ‘इंडियन मुजाहिदीन और उसके साथियों ने लुंबिनी अम्युजमेंट पार्क में लोगों को निशाना बनाया था| उस दिन शाम 7:45 पर एक जोरदार धमाका हुआ और हर तरफ चीख पुकार मच गई|

पार्क में हरियाली की जगह लोगों का खून और लाशें पसर गई| वहीं इसके बाद 25 अगस्त शाम 7:50 मिनट पर ही शहर का मशहूर गोकुल चाट भंडार आतंकियों का निशाना बना था| इन दोनों जगहों पर हुए धमाके में कुल 42 लोगों की जान गई थी| अब अदालत ने सभी मृतकों को इतने वर्षों बाद न्याय दिया है| आज दो आरोपियों को अदालत ने फांसी की और एक को आजीवन कारावास की सज़ा सुनाई|

मेट्रोपोलिटन सत्र न्यायालय ने हैदराबाद में हुए डबल ब्लास्ट के मामले में कोर्ट ने सोमवार को अकबर इस्माइल चौधरी और अनीक शरीख को फांसी की सज़ा सुनाई वहीं तीसरे दोषी तारिक अंजुम उम्रकैद की सज़ा दी| इनके अलावा फारुख शरफुद्दीन और सादिक अहमद शेख को साक्ष्यों के अभाव में बरी कर दिया गया| पिछले सप्ताह इस मामले पर कार्रवाई की गई थी|

जानकारी के अनुसार, अनीक ने कथित तौर पर लुम्बिनी पार्क  में बम रखा था, जिसमें 10 लोगों की मौत हो गई थी जबकि अकबर ने दिलसुखनगर में बम रखा था, लेकिन इसमें विस्फोट नहीं हुआ था| दोनों ब्लास्ट में कुल 68 लोग घायल हो गए थे| फिलहाल तीन अन्य आरोपी आईम सरगना रियाज भटकल और उसका भाई इकबाल भटकल फरार है|

Share.