कांग्रेस को देख भाजपा ने खेला बड़ा दांव…

0

मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बनते ही किसानों के कर्ज़ माफी की घोषणा हो गई। लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस की इस घोषणा ने भाजपा पर दबाव बढ़ा दिया है। ऐसे में अब भाजपा ने गुजरात में 625 करोड़ रुपए का बिजली बिल माफ करने का ऐलान कर दिया। गुजरात सरकार के इस फैसले का फायदा 6.22 लाख लोगों को मिलेगा।

गुजरात सरकार के ऊर्जा मंत्री सौरभ पटेल ने कहा कि आईपीसी की धारा 124 और 135 के तहत बिल न भरने या बिजली चोरी करने की वजह से जितने भी लोगों की लाइनें काटी गईं, अब वे दोबारा जोड़ दी जाएंगी। इसके लिए मात्र 500 रुपए शुल्क अदा करना होगा। वन टाइम सेटलमेंट स्कीम के लिए सभी वाणिज्यिक, रिहायशी और कृषि बिजली कनेक्शनों के 18 दिसंबर तक के बकाया पर एक बार छूट के पात्र माने जाएंगे। यह छूट 19 दिसंबर 2018 से 28 फरवरी 2019 तक उपलब्ध होगी। यह फैसला तत्काल प्रभाव से लागू हो गया है।

उधर, असम सरकार ने भी किसानों का कर्ज़ माफ करने की घोषणा कर दी है। इस कर्ज़माफी का फायदा करीब 8 लाख किसानों को मिलेगा, जिससे सरकार पर 600 करोड़ रुपए का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा। असम सरकार के प्रवक्ता और संसदीय मामलों के मंत्री चंद्रमोहन पटवारी ने कहा कि सरकार किसानों के लोन का 25 प्रतिशत माफ करेगी। उन्होंने कहा कि लाभ उन किसानों का मिलेगा, जिन्होंने पीएसयू बैंकों और किसान क्रेडिट कार्ड के माध्यम से लोन लिया है।

सांसदों पर बरस पड़ीं महाजन

सज्जन मामले पर सामने आए राहुल, कहा…

शिवराज को भाजपा की ना

Share.