पोते की चाह में दादी ने की दो महीने की पोती की हत्या

0

आजकल लड़कियां हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही हैं| कई जगह लड़कों से ज्यादा लड़कियां आगे बढ़ रही है, फिर भी कई लोग ऐसे हैं, जिन्हें आज भी सिर्फ और सिर्फ लड़के ही चाहिए| बेटी होते ही वे मासूम की बेरहमी से हत्या कर देते हैं| आज भी ऐसे कई सवाल सामने आते हैं कि क्या लड़का होने से ही परिवार पूरा होता है? राजस्थान से एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसमें एक दादी ने अपनी दो महीने की पोती की इसलिए हत्या कर दी क्योंकि वह लड़की थी|

जानकारी के अनुसार, राजस्थान की राजधानी जयपुर के मुरलीपुरा में एक महिला ने अपनी दो महीने की पोती को पानी के टैंक में डुबोकर मार डाला| वह चाहती थी कि उसे पोता हो, लेकिन लड़की होने के बाद से ही वह दुखी हो गई थी| हत्या करने बाद लोगों को शक न हो इसलिए वह खुद ही पोती को तलाशने का नाटक करने लगी| उसने रो-रोकर आसपास के लोगों को जमा कर लिया और नाटक करने लगी, लेकिन पुलिस की सख्ती ने उसे पिघला दिया और उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया|

पहले आरोपी विमला देवी ने अपनी बहू को हत्या के मामले में फंसाना चाहा| उसने बहू को छत पर कमरे में अलमारी की सफाई करने भेज दिया और खुद कमरे में सोने चली गई| कुछ देर बाद आरोपी दादी ने उठकर दृष्टि का गला दबाकर हत्या करने का प्रयास किया फिर बाहर रखे पानी के टैंक में पटककर आकर सो गई| जब काफी देर तक बहू नीचे नहीं आई तो उसने ही रोते हुए उसे बुलाया और आसपास के लोगों को भी इकठ्ठा किया| जब पुलिस वहां पहुंची तो आसपास तलाश की| इसके बाद दादी ने ही लोगों को पानी के टैंक में तलाशने की नसीहत दी| टैंक में दो माह की दृष्टि का शव टैंक तैर रहा था|  इसके बाद पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की, जिसमें आरोपी दादी ने अपना गुनाह कबूल लिया|

Share.