गोल्डन बाबा आउट

0

प्रयागराज में लगने वाले अर्धकुंभ को लेकर जहां एक ओर तैयारियां जोर-शोर से चल रही हैं वहीं दूसरी ओर साधु-संतों में विवाद देखने को मिल रहा है। ख़बरों के अनुसार, प्रसिद्ध गोल्डन बाबा को श्रीपंचदशनाम जूना अखाड़े ने निकाल दिया गया है। अखाड़े के संविधान का पालन न करने के कारण और नियमों का उल्लंघन करने के आरोप में गोल्डन बाबा को निष्कासित किया गया है।

सिर्फ गोल्डन बाबा को ही नहीं बल्कि उनके अन्य पदाधिकारियों को भी अखाड़े ने बाहर का रास्ता दिखा दिया है। निष्कासित किए गए संतों में महंत देवेंद्र पुरी, महंत थानापति शिव ओमपुरी, थानापति मनोहर पुरी, सन्यासिनी महंत पूजा पुरी शामिल हैं। श्रीपंचदशनाम जूना अखाड़े के संतों की महासभा ने रविवार को यह कार्रवाई की। गोल्डन बाबा पर धोखाधड़ी और पुलिसकर्मियों को धमकाने का आरोप लगा है। इन आरोपों की वजह से उन्हें और उनके सहयोगियों को अखाड़े से बाहर कर दिया है।

अखाड़े ने गोल्डन बाबा व उनके सहयोगियों से सारे अधिकार छीन लिए हैं। गोल्डन बाबा की जगह अब श्रीमहंत केदारपुरी को रमता पंच पद पर महासभा ने बैठाया है। वहीं भोला पुरी को अब थानापति मनोहर पुरी की जगह सौंपी गई है। अखाड़े के कुंभ मेला प्रभारी एवं प्रवक्ता स्वामी विद्यानंद सरस्वती ने कहा कि महंत हरि गिरि जूना अखाड़ा में अनुशासन सर्वोपरि है इसलिए लोकतांत्रिक तरीके से पांच महंतों को निष्कासित किया गया है। निष्कासित किए गए महंतों को अखाड़े की ओर से न तो भूमि दी जाएगी और न ही किसी तरह की अन्य सुविधाएं।”

गोल्डन बाबा : सिल्वर जुबली कावड़ यात्रा पर निकले, साथ में…

कांवड़ यात्रा को बदनाम करने की साजिश

Share.