भोपाल से गोद ली बच्ची, दंपति ने स्पेन में छोड़ा

0

मध्यप्रदेश के भोपाल के एक अनाथ आश्रम से गोद ली गई बच्ची को स्पेन की एक दंपति ने इस वजह से छोड़ दिया क्योंकि उस बच्ची की उम्र ज्यादा है| दंपति का कहना है कि गोद लेते समय बच्ची की उम्र सात वर्ष बताई गई थी, लेकिन वह 13 वर्ष से भी ज्यादा की है| उन्होंने बताया कि हम कम उम्र की बच्ची इसलिए गोद लेना चाहते थे ताकि उसे हमारी भाषा और तौर-तरीके आसानी से सिखा सकें| बच्ची की उम्र ज्यादा है इसलिए उसे यह सब सीखने में परेशानी आ रही है|

लड़की अब दंपति के साथ नहीं है| उन्होंने उसे मैड्रिड के आश्रय गृह में छोड़ दिया है| जानकारी के अनुसार, बच्ची को ‘उड़ान’ नामक एक संस्था से गोद लिया गया था| दंपति ने सेंट्रल एडोप्शन रेस्क्यू एजेंसी से शिकायत की थी कि कागजों में बच्ची की उम्र सात वर्ष बताई गई थी, जो सही नहीं है| हमारे साथ धोखा हुआ है, दंपति ने बच्ची की उम्र की जांच करवाई है|

मेडिकल जांच में पता चला कि वह बताई गई उम्र से छः वर्ष बड़ी है| दिल्ली में मंत्रालय को भी चिट्ठी लिखकर जानकारी दी, लेकिन वहां से भी कोई जवाब नहीं आया|

इस मामले में ‘उड़ान’ की डायरेक्टर अपूर्वा शर्मा का कहना है कि उम्र के मामले में हम कुछ नहीं कह सकते| हमारे पास कागज बाल कल्याण समीति के पास से आए थे| फिलहाल इस मामले की जांच की जा रही है| मीडिया में इस खबर के आने के बाद चाइल्ड एडोप्शन रेस्क्यू एजेंसी के मध्यप्रदेश समन्वयक दुर्गेश केसवानी का कहना है कि इस मामले को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के सामने भी उठाया जाएगा| बच्ची को वापस लाने की कोशिश कर रहे हैं|

Share.