Video :इंदौर के खजराना गणेश मंदिर में भक्तों का सैलाब

0

आज श्रीगणेश भक्तों के द्वार पधार रहे हैं| गणेशजी की प्रतिमा की स्थापना के दिनभर में कई शुभ मुहूर्त होने की वजह से कई लोग स्थापना कर चुके हैं वहीं कई लोग स्थापना करने वाले हैं| देश के प्रसिद्ध मंदिर जैसे मुंबई के लालबाग़ के राजा से लेकर इंदौर के खजराना गणेश मंदिर तक में भक्तों का सैलाब उमड़ रहा है| भक्त भगवान के दर्शन करने के लिए रात से ही लंबी कतार में खड़े हुए हैं|

 

इंदौर के प्रसिद्ध खजराना गणेश मंदिर में रात से ही भक्तों की कतार लग गई| आज भगवान सिद्धि विनायक का विशेष श्रृंगार किया गया है| गुरुवार सुबह ध्वजापूजन एवं शुभ-लाभ सहित सभी देवताओं को स्वर्ण मुकुट तथा मोतियों का चोला समर्पित करने के साथ गणेश उत्सव शुरू हुआ| गणेशोत्सव के दौरान यहां हर दिन भगवान को मोदक और लड्डुओं का भोग लगाकर उन्हें भक्तों में वितरित किया जाता है|

भक्तमंडल द्वारा गणेशजी को सवा लाख मोदक भी समर्पित किए गए| गणेशोत्सव में प्रतिदिन शाम को गणेशजी को विभिन्न अनाजों के लड्डुओं का भोग भी समर्पित किया जाएगा| इनमें मूंग, चना, उड़द, ज्वार, बाजरा, मूंगफली, चवला, मक्का, ड्रायफ्रूट्स, मगज आदि शामिल हैं|

खजराना गणेश मंदिर की इन्होंने की थी शुरुआत

खजराना गणेश मंदिर की महिमा अद्भुत है| होलकर काल से ही भगवान को यहां पूजा जाता है| मंदिर में गजानन की स्थापना उस वक्त हुई थी, जब भट्ट परिवार के पूर्वज मंगलजी भट्ट को सपने में भगवान गणेश ने दर्शन दिए और इस स्थान पर होने के संकेत दिए| इसके बाद यह बात मंगलजी भट्ट ने राजमाता अहिल्यादेवी होलकर को बताई| जानकारी पाकर अहिल्याबाई होलकर ने उस जगह खुदाई के निर्देश दिए, जहां भगवान गणेश ने कहा था| खुदाई के दौरान भगवान गणेश की चमत्कारिक मूर्ति निकली| भगवान् गणेश के साथ रिद्धि-सिद्धि की प्रतिमा की भी स्थापना की गई| यहां चोला चढ़ाने की वजह से श्रीगणेश का आकार बड़ा हो गया, जिससे रिद्धि-सिद्धि की प्रतिमा उनके साथ छिप गई|

आज इन्होंने दी गणेश चतुर्थी की शुभकामनाएं

https://twitter.com/KaptanHindustan/status/1040086718794412032

खजराना गणेश मंदिर ने बनाया रिकॉर्ड

Ganesh chaturthi 2018: एक ऐसा मंदिर, जहां बढ़ता है गणपतिजी का आकार

Ganesh Chaturthi 2018: भेजें अपनों को ये बधाई संदेश

Share.