‘शरीफ’ की नापाक करतूत

0

पहले से जेल में बंद पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ को भ्रष्टाचार के एक और मामले में सोमवार 24 दिसम्बर को 7 साल की सज़ा सुनाई गई है। अल अजीजिया स्टील मिल मामलों में पूर्व पाक प्रधानमंत्री शरीफ को दोषी करार देते हुए यह सज़ा सुनाई गई है। सात साल की सज़ा के साथ ही शरीफ पर 2.5 मिलियन का अर्थदंड भी लगाया गया है। शरीफ पहले से एक भ्रष्टाचार के मामले में हवालात की हवा खा रहे हैं।

पिछले हफ्ते ही फ्लैगशिप इन्वेस्टमेंट और अल-अजीजिया मामलों में अदालत ने सुनवाई पूरी कर ली थी और फैसला अपने पास सुरक्षित रख लिया था। इस मामले में अदालत ने फैसले को आज के दिन मुक़र्रर किया था। फैसले के पहले अदालत के बाहर नवाज शरीफ के समर्थकों ने जमकर प्रदर्शन किया। इस हंगामे में पुलिस और शरीफ समर्थकों के बीच झड़प हो गई।

गौरतलब है कि पाकिस्तान में चुनाव से पहले ही नवाज़ शरीफ ने लंदन से वापस पहुंचकर सरेंडर किया था। एवनफील्ड प्रोपर्टीज मामले में नवाज शरीफ को इसी साल जुलाई माह में 11 साल की सज़ा सुनाई गई थी। नवाज़ के अलावा उनकी बेटी मरियम शरीफ को भी 8 साल कैद की सज़ा सुनाई गई थी। शरीफ कुछ दिन से पैरोल पर जेल से बाहर थे, लेकिन एक बार फिर नवाज़ को कैद कर लिया गया है।

तो जाएगी नवाज़ शरीफ की कुर्सी

नवाज़ नहीं थे शरीफ…

‘शरीफ’ की नापाक करतूत

Share.