पांच हत्या के आरोपी अभी भी फरार, असम में हाहाकार

0

असम में उल्फा आतंकियों का कहर लगातार बढ़ते ही जा रहा है| तिनसुकिया जिले में एक ही परिवार के पांच लोगों की हत्या के बाद भी उनके आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई है| इस घटना के विरोध में आज असम बंद का आह्वान किया गया है| इसके लिए कई बंगाली संगठन सामने आए हैं| बंद को देखते हुए बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किए गए हैं|

जानकारी के अनुसार, तिनसुकिया में बंदूकधारी उल्फा आतंकियों ने गुरुवार को रात करीब आठ बजे छह लोगों को खेरोनिबाड़ी गांव में बुलाया और उन पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी| इसके बाद बंदूकधारी वहां से फरार हो गए| तिनसुकिया जिले में पांच लोगों की हत्या में शामिल लोगों को पकड़ने के लिए व्यापक खोज अभियान  चलाया गया, एल्किन अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है|

मुख्यमंत्री ने इन्हें जिम्मेदार ठहराया

मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने राजनीतिक दलों के इन सभी हत्याओं का जिम्मेदार ठहराया है| उनका कहना है कि नेताओं द्वारा दिए जाने वाले भाषण से ही आतंकी भड़कते हैं| हाल ही में हुए हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों को 5 लाख रुपए का मुआवजा और एक परिजन को नौकरी का ऐलान किया गया है| वहीं पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने बांग्लाभाषी पांच लोगों की हत्या के विरोध में मार्च निकालकर अदालत की निगरानी में जांच की मांग की है| पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने घटना पर क्षोभ प्रकट करते हुए कहा कि असम के एक गांव में निर्दोष और गरीब लोगों की मौत की घटना से मेरा मन दुख से भर गया है|

Share.