शिमला: रेल लाइन पर गिरे पेड़ और मलबा, परेशान हुए यात्री

1

प्रकृति का कहर अभी भी कई स्थानों पर बरप रहा है| केरल में आई भीषण बाढ़ के बाद अब देश के कई हिस्सों में बारिश का क़हर देखने को मिल रहा है| शिमला में भी आफत की बारिश हो रही है| इससे लोगों की परेशानी बढ़ गई है| दरअसल, शिमला के पास ‘वर्ल्ड हेरिटेज शिमला-कालका रेलमार्ग’ पर सोमवार सुबह पहाड़ का मलबा और पेड़ गिर गए| इसके बाद लगभग 4 घंटे तक रेलमार्ग बंद रखना पड़ा|

पहाड़ का मलबा गिरने के कारण अन्य तीन ट्रेन देरी से चलीं, जिसके कारण यात्री परेशान हुए| सूत्रों के अनुसार, सोमवार सुबह लगभग 8.30 के करीब शिमला रेलवे स्टेशन के नजदीक अचानक पहाड़ी से मलबा भरभरा कर ट्रैक पर गिर गया| इस मलबे के साथ दो पेड़ भी गिरे, जिससे रेलवे के पुराने भवनों को नुकसान पहुंचा| इसके बाद सोमवार को लगभग 12.45 बजे तक मलबा हटाया गया|

प्रदेशभर में मानसून की बरसात से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया| कई जगह भारी बारिश से लोगों को परेशानी झेलनी पड़ रही है| प्रदेश में बारिश के कारण हुए भूस्खलन से 100 से अधिक सड़कें अब भी बंद हैं| वहीं रविवार को प्रदेश में 63.3 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई है, जो सामान्य से 9 फीसद अधिक है|

गौरतलब है कि बारिश के कारण प्रदेश को कुल 1100 करोड़ 67 लाख रुपए से अधिक का नुकसान हो गया है| रविवार को भी राज्य के अधिकांश हिस्सों में बारिश का क्रम जारी रहा। जिला मंडी में दो मकान ढह  गए| मौसम विभाग ने मंगलवार और बुधवार को राज्य के मैदानी व कम ऊंचाई वाले कुछ क्षेत्रों में भीषण वर्षा होने संभावना जताई है|

Share.