कोरोना का टीका लगवाने के बाद क्या करें, क्या नहीं?

0

भारत में कोरोना वायरस के टीकाकरण शुरू हो चुका है. कोरोना वायरस की वैक्सीन पर सवालों के जवाब में वैज्ञानिकों का कहना है कि वैक्सीन लगवाने के बाद भी आपको मास्क लगाना होगा और तमाम एहतियात बरतने होंगे. इसके लिए वैज्ञानिकों ने कई वजहें बताई हैं. एक तो… वैक्सीन कोरोना वायरस के खिलाफ पूरी सुरक्षा की गारंटी नहीं है. अभी तक हमें ये नहीं मालूम है कि वैक्सीन लगवाने के बाद लोग संक्रमण फैला सकते हैं या नहीं.

कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी के न्यूरोइकोनॉमिस्ट उमा करमाकर ने, कहा “वैक्सीन साल 2019 में लौटने का टिकट नहीं है. लोगों को पहले की तरह अपनी जिंदगी को सामान्य बनाने में जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए. वैक्सीन लगने के बाद चीजें धीरे-धीरे आगे बढ़ेंगी लेकिन कई बदलावों में वक्त लगेगा.”शुरुआती डेटा के मुताबिक, अमेरिका में वैक्सीन लगवाने के बाद कोरोना संक्रमण का खतरा 95 फीसदी तक कम हो सकता है. इसका ये मतलब भी है कि आबादी का एक हिस्सा वैक्सीन लगवाने के बाद भी बीमार पड़ सकता है. ऐसे में, जब कोरोना महामारी पूरी दुनिया में फैली हुई है, छोटे स्तर का संक्रमण भी बड़े आंकड़े में तब्दील हो सकता है.

वैज्ञानिकों का कहना है कि अगर आपको वैक्सीन की दोनों डोज लग चुकी है लेकिन बाकियों को नहीं लगी है तो इससे आपकी जिंदगी बहुत बदलने वाली नहीं है. वैक्सीन लगवाने के बाद ग्रॉसरी स्टोर जाना या बैंक जाना पहले की तुलना में सुरक्षित हो सकता है. खासकर, जो लोग संक्रमण के जोखिम वाले क्षेत्रों में काम करते हैं, उनके लिए खतरा कम हो जाएगा. यही वजह है कि भारत में पहले चरण में सबसे पहले फ्रंटलाइन वर्कर्स को ही वैक्सीन दी जा रही है. लेकिन इन सबके बावजूद, आपको मास्क लगाना होगा और भीड़-भाड़ वाली जगह में जाने से बचना होगा. ये आपकी और दूसरों की सुरक्षा, दोनों के लिए जरूरी है. नैशविले के वैन्डबिल्ट मेडिकल सेंटर में महामारी विशेषज्ञ डॉ. विलियम स्कैफनर ने कहा, “आप वैक्सीन लगने के बाद भी कोरोना से संक्रमित हो सकते हैं और दूसरों में संक्रमण फैला सकते हैं. जॉन हॉपकिन्स सेंटर फॉर हेल्थ सिक्योरिटी में सीनियर स्कॉलर डॉ. अमेश अदालजा ने कहा, वैक्सीन की दो डोज के साथ हम आपको ये गारंटी नहीं दे सकते हैं कि आप एसिम्प्टोमैटिक (बिना लक्षण दिखे) तरीके से कोरोना वायरस से संक्रमित नहीं हैं और दूसरों में ये संक्रमण नहीं फैलेगा. इसलिए हमें बहुत सावधानी बरतने की जरूरत है.”

अदालजा ने कहा, “अगर आप किसी को गले लगाते हैं और उन्हें वैक्सीन नहीं लगी है. मान लीजिए कि उस व्यक्ति को डायबिटीज है या उनकी उम्र 60 से ज्यादा है तो आप उनमें संक्रमण फैला सकते हैं और वो गंभीर रूप से बीमार पड़ सकते हैं. अगर बुजुर्ग आबादी को वैक्सीन लग जाती है तो फिर राहत की बात होगी क्योंकि कोरोना वायरस से मौत का सबसे ज्यादा खतरा इसी आबादी को ही है.”अगर आपके पूरे परिवार और सारे दोस्तों को वैक्सीन लग चुकी है तो आप उनके साथ घुल-मिल सकते हैं. लेकिन जब आपको अपने आस-पास के लोगों के बारे में ये जानकारी ना हो तो उनके साथ घूमना या संपर्क करना जोखिम भरा हो सकता

Share.