डोली सजाने के लिए बुलाए फूलों से सजी अर्थी

0

परिवार में शादी की तैयारियां जोरों-शोरों से चल रही थी| दुल्हन को मेहंदी लग चुकी थी, तिलक  की रस्म और संगीत भी बड़े धूमधाम से हुआ, लेकिन बाद में ऐसा कुछ हुआ कि शादी की खुशियों के बीच मातम पसर गया|  जिन फूलों से मंडप सजना था, उन्हीं फूलों से दुल्हन की अर्थी सजाई गई| शहनाई की जगह रुदन सुनाई देने लगा| फूलों से सजी अर्थी देखकर कर किसी के भी आसूं नहीं रुक रहे थे| दरअसल, पटना में पूर्व डीआईजी की बेटी ने शादी के एक दिन पहले ही आत्महत्या कर ली| अब इस आत्महत्या के बारे में एक नया खुलासा हुआ है|

फूलों से सजी अर्थी देखकर बेसुध परिवार

पटना में सोमवार को स्निग्धा की डोली निकलने वाली थी| डोली और घर को सजाने के लिए काफी मात्रा में फूल मंगवाए गए थे, लेकिन शायद किस्मत को कुछ और ही मंजूर था| उन फूलों से दुल्हन की अर्थी सजाई गई| जैसे ही फूलों से सजी अर्थी घर से निकली, वैसे ही सभी की आंखों से आंसू बहने लगे| जो रिश्तेदार बधाइयां देने आये थे, वे सांत्वना देने लगे|

क्यों की आत्महत्या?

किशनगंज के पूर्व डीएम महेन्द्र कुमार, अपनी बेटी स्निग्धा की शादी आईएएस से ही करना चाहते थे, लेकिन बेटी को कोई और ही पसंद था| डॉ. स्निग्धा सिलीगुड़ी से एमबीबीएस की पढ़ाई पूरी करने के बाद कोलकाता में एमएस कर रही थी| उसे सिलीगुड़ी में आईआईटियन लड़के से प्रेम हो गया था, जिससे वह शादी करना चाहती थी, लेकिन महेन्द्र कुमार ने अपनी बेटी की बात नहीं मानी, क्योंकि लड़का दूसरी बिरादरी का था| इसके बाद उन्होंने स्निग्धा की पसंद के बिना उसकी शादी तय कर दी थी| गौरतलब है कि पूर्व डीएम की बेटी ने 14वीं मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली| रविवार सुबह अपने घर से मॉर्निंग वाक पर जाने की बात कहकर निकली थी| पिछले कई दिनों से वह मॉर्निंग वाक पर जाने के नाम पर घर से निकलती| उसके ड्राइवर ने बताया कि वह टहलने के बजाय किसी न किसी अपार्टमेंट में जाकर रेकी करती थी| रविवार की सुबह करीब सात बजे वह पश्चिमी पटेल नगर स्थित घर से मॉर्निंग वॉक के नाम पर निकली थी, जहां से वह बीच बेली रोड के राजा बाजार स्थित मैरीन अपार्टमेंट पहुंची और आत्महत्या कर ली|

अब पटना शेल्टर होम में धांधली, दो महिलाओं की मौत

VIDEO : पटना में जातिवाद, अमेठी में ‘राहुल गांधी चोर है’ के लगे नारे

पटना में अतिक्रमण हटाने के दौरान आगजनी, फायरिंग

Share.