छत्तीसगढ़ पुलिस को मिली बड़ी सफलता

0

नक्सली प्रभावित प्रदेश छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले में रविवार को एक बार फिर पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ की खबर सामने आई है। इस बार नारायणपुर पुलिस को बड़ी सफलता हासिल हुई है। रविवार को पुलिस और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ में पुलिस ने तीन लाख के एक इनामी नक्सली को मार गिराया है। पुलिस द्वारा मारे गए नक्सली के पास से बड़ी मात्रा में हथियार बरामद हुए हैं।

घटना नारायणपुर जिले के कलेपाल गांव की है,  जहां पुलिस को मुखबिरों से नक्सलियों के होने की सूचना मिली। सूचना मिलते ही पुलिस की टीम कलेपाल गांव पहुंची। सर्चिंग पर निकली टुकड़ी को देखकर नक्सलियों ने अचानक फायरिंग शुरू कर दी। इसके जवाब में पुलिस ने मुंहतोड़ जवाब देते हुए जवाबी फायरिंग की। अपने आप को घिरता देख नक्सली वहां से भाग निकले।

करीब 10-15 मिनट पुलिस और नक्सलियों के बीच चली फायरिंग में नक्सलियों का एक साथी ढेर हो गया। नक्सलियों के वहां से भाग जाने के कुछ देर बाद पुलिस ने सर्चिंग ऑपरेशन शुरू किया, जिसमे एक नक्सली का शव बरामद हुआ। उसके पास से देशी कट्टा व कारतूस भी पुलिस ने बरामद किए हैं।

हाल ही में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमनसिंह ने बयान दिया था कि नक्सली यदि सरेंडर नहीं करते हैं तो मारे जाएंगे। मुख्यमंत्री द्वारा दिए गए इस बयान के बाद से ही  नक्सल प्रभावित जिलों में सर्च ऑपरेशन तेज हो गए हैं। छत्तीसगढ़ के सुकमा, नारायणपुर जिले, बस्तर, दंतेवाड़ा, बीजापुर और कांकेर जिलों की गिनती देश के घोर नक्सल प्रभावित जिलों में होती है और आए दिन यहां नक्सली हमलो की वजह से काफी नुकसान होता है।

साथ ही सीआरपीएफ और पुलिस के जवान शहीद हो जाते हैं। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री रमनसिंह ने 2022 तक प्रदेश को नक्सल मुक्त बनाने का संकल्प लिया है।

Share.