200 रुपए बिजली का बिल होने के बावजूद इंदौर में बिजली चोरी

0

इंदौर में बिजली बिल बकायादारों के कनेक्शन काटने का अभियान चल रहा है| इसी दौरान पता चला कि अब भी शहर के लोग बिजली चोरी कर रहे हैं| दरअसल, चुनाव से ठीक पहले प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने यह घोषणा की थी कि गरीबी रेखा वाले सभी लोग कितनी ही बिजली इस्तेमाल करें, उनका बिल 200 रुपए ही आएगा| इसके बावजूद शहर के आज़ाद नगर से बिजली चोरी का मामला सामने आया है|

अफसरों की टीम डेली कॉलेज झोन में बकायादारों के कनेक्शन काटने पहुंची| सुबह-सुबह टीम निकल पड़ी और लोगों ने जागने से पहले ही कनेक्शन काटने का काम शुरू कर दिया| इसी मुहिम में जब इंजीनियर भास्कर घोष अपनी टीम के साथ आज़ाद नगर से गुजर रहे थे तो 17, आज़ाद नगर में उन्होंने छत पर सफ़ेद तार जाता हुआ देखा| शक होने पर उन्होंने जांच की| इसके बाद पता चला कि सीधा तार डालकर बिजली चुराई जा रही है|

यह मकान फातिमा बी के नाम से है| हैरानी की बात यह थी कि फातिमा बी को मुख्यमंत्री की सरल बिल योजना में शामिल किया गया था| इस योजना के तहत बिजली का मासिक बिल महज 200 रुपए आता है| फातिमा बी के बेटे शहजाद से जब बिल मांगे गए तो उसने पिछले महीने के कुछ बिल दिखाए|

उसने जो बिल दिखाए, उसमें सितंबर का बिल जहां 196 रुपए था, वहीं पिछला बकाया 407 रुपए था| मुख्यमंत्री बकाया बिजली माफ़ योजना के तहत उसका 166 रुपए माफ़ भी हुए थे| 200 रुपए के बिल के बाद शहजाद के पास बिलजी चोरी का कोई जवाब नहीं था| घोष ने बताया कि उसके खिलाफ बिजली कानून में केस दर्ज कर लिया गया है| उसके घर में हीटर, फ्रीज, वाशिंग मशीन, कूलर सहित कई उपकरण मिले हैं|

Share.