‘आप’ के चंदे की रकम में गड़बड़ी – चुनाव आयोग

0

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर मुसीबतों का पहाड़ गिरने वाला है। चुनाव आयोग ने आम आदमी पार्टी की चुनावी फंडिंग को गलत बताया है। चुनाव आयोग ने पार्टी को 20 दिन के अंदर अपना पक्ष रखने को कहा है। आयोग ने आप को जारी नोटिस में कहा है कि पार्टी ने लेन-देन को गलत तरीके से डोनेशन के रूप में दिखाया है। आयोग ने यह नोटिस इनकम टैक्स की ओर से उपलब्ध करवाए गए दस्तावेज के आधार पर दिया है।

दरअसल, आप ने चुनाव आयोग को 30 सितंबर 2015 को वित्त वर्ष 2014-15 के चंदे की रिपोर्ट जमा करवाई थी। इसके बाद पार्टी ने चंदे की संशोधित रिपोर्ट 20 मार्च 2017 को सौंपी। पहले जमा की गई रिपोर्ट में पार्टी ने 2696 लोगों से 37 करोड़ 45 लाख 44 हजार 618 रुपए चंदे के रूप में मिलने की जानकारी दी, जबकि संशोधित रिपोर्ट में पार्टी ने दानियों की संख्या बढ़ाकर 8264 कर दी जबकि दान के रूप में मिली राशि को 37 करोड़ 60 लाख 62 हजार 631 रुपए बताया।

इसके बाद सैंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस द्वारा 5 जनवरी 2018 को चुनाव आयोग को दी आप की वित्त वर्ष 2014-15 की रिपोर्ट में 13.16 करोड़ रुपए के चंदे की राशि में गड़बड़ी पाई। रिपोर्ट में लिखा है कि आप ने पार्टी के बैंक खाते में 67.67 करोड़ रुपए होने की जानकारी दी, जिसमें 64.44 करोड़ रुपए चंदे की रकम बताई गई। वहीं पार्टी ने वित्त वर्ष के अपने ऑडिट रिपोर्ट में पार्टी की कुल आय 54.15 करोड़ रुपए बताई। इस हिसाब से 13.16 करोड़ रुपए की हेराफेरी की गई है।

आप पर 2 करोड़ रुपए हवाला के माध्यम से लिए गए और इसे चंदे में दिखाया गया, इसका भी आरोप है। वहीं पार्टी ने अपनी वेबसाइट पर भी चुनावी चंदे की गलत जानकारी दी है। यह रिप्रजेंटेशन ऑफ पीपल एक्ट की धारा 29 सी का उल्लंघन है।

किसने दिया सीएम केजरीवाल को डोर स्टेप डिलीवरी का आइडिया ?

Share.