एक दीपक शहीद के घर…

0

ठंड, तूफान, आंधी हो या फिर लू हमारे देश के जवान हमेशा देश के नागरिकों की रक्षा के लिए दिन-रात डटे रहते हैं| देश में हर साल कई जवान शहीद होते हैं| देश के लिए दी गई उनकी कुर्बानी को लोग हमेशा याद करते हैं| उनके जाने के बाद पीढ़ियों तक उनकी कहानियां सुनाई जाती हैं (Ek Deeya Shaheedon Ke Naam)| इस साल 14 फ़रवरी को हुए पुलवामा अटैक को कोई भी भारतीय अपने ज़हन से नहीं निकाल पाया है| इस दर्दनाक आतंकी हमले में 40 सीआरपीएफ के जवान शहीद हुए थे| पाकिस्तानी द्वारा किए गए इस हमले का जवाब भारत ने उसके घर में घुसकर दिया|

अब आधार से लिंक करानी होगी प्रॉपर्टी

दिवाली का मौका है और हर घर प्रकाश से रोशन है, लेकिन इस हमले में जिस परिवार का चिराग बुझा है, उनके घरों में खुशियों की रोशनी कम होगी| आप एक जिम्मेदार भारतीय नागरिक होने के नाते इनके घरों की रोशनी बढ़ा सकते हैं| दिवाली पर हम अपनों के साथ खुशियां बांटते हैं (Ek Deeya Shaheedon Ke Naam)| इस दिन भी जवान हमारी रक्षा के लिए सीमा पर तैनात रहते हैं| हर वर्ष 26 जनवरी और 15 अगस्त के दिन तो हम हमेशा ही उन्हें याद करते हैं, क्यों न इस बार दिवाली पर उन्हें याद किया जाए|

हरियाणा में मनोहर लाल खट्टर का शपथ ग्रहण

इस बार क्यों न दिवाली पर हम शहीदों और इस समय सीमा पर तैनात सैनिकों के घर जाकर उनके घरों को दीपक से रोशन करें और उनके परिवारों से मिलकर इस दिवाली की खुशियां बाटें| यदि आपके आस-पास किसी सैनिक का घर नहीं है तो आप उनके नाम का एक दीपक अधिक जला सकते हैं| दिवाली के दिन भारत दीप प्रकाश से इतना जगमगाए कि इसकी रोशनी पड़ोसी मुल्क तक पहुंचे| दुश्मन देश को लगे कि हम अपने सैनिकों की कुर्बानी को न सिर्फ याद रखते हैं बल्कि उनको हृदय से नमन भी करते हैं|

मध्यप्रदेश में फीकी रहेगी सरकारी कर्मचारियों की दिवाली!

टैलेंटेड इंडिया का देशवासियों से निवेदन है कि वे इस दिवाली शहीद सैनिकों की याद में एक दीया अवश्य जलाएं|

-Talented India Team

Share.