देश के कई राज्यों में भूकंप के झटके

0

दो दिन पहले राजधानी दिल्ली में आए हल्के भूकंप के बाद मंगलवार को जम्मू-कश्मीर, हरियाणा, बिहार का पटना, कटिहार, किशनगंज और पूर्णिया, असम, नागालैंड,  मणिपुर, पश्चिम बंगाल, अरुणाचल प्रदेश और सिक्किम के कई स्थानों पर भी भूकंप के झटके महसूस किए गए|

जम्मू-कश्मीर में सुबह 05:15 बजे आए इस भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 4.6 दर्ज की गई।  हरियाणा में सुबह 05:43 बजे हल्के झटके महसूस किए गए, जिसकी रिक्टर स्केल पर 3.1 तीव्रता मापी गई। हरियाणा में आए भूकंप का केंद्र झज्जर बताया जा रहा है। वहीं अन्य राज्यों में भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 5.5 दर्ज की गई| भूकंप के झटकों के बाद लोग अपने-अपने घरों से बाहर निकल गए। हालांकि, किसी भी जान-माल के नुकसान होने की खबर नहीं है। यहां भूकंप का केंद्र बांग्लादेश रहा|

इससे पहले भी  9 सितंबर को झज्जर जिले में 3.8 तीव्रता का भूकंप आया था और रविवार को दिल्ली एनसीआर में भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए थे। रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 3.8 मापी गई थी। देश के विभिन्न इलाकों में पिछले 4 दिनों में 4 बार भूकंप के झटके महसूस किए गए।

राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र ने बताया कि भूकंप सोमवार सुबह 6 बजकर 28 मिनट पर महसूस किया गया, जिसकी तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 3.8 मापी गई। इसका केंद्र सतह से 10 किलोमीटर की गहराई में था, भूकंप के झटके राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में भी महसूस किए गए| इसी इलाके में रविवार को मध्य तीव्रता का एक और भूकंप आया था। दिल्ली और आसपास के इलाके भूकंपीय क्षेत्र चार में आते हैं।

एनसीएस के निदेशक विनीत कुमार गहलोत ने बताया कि यही कारण है कि हम रोहतक, झज्जर, सोहना, पानीपत में छोटे और मध्यम तीव्रता के भूकंप आते हैं और इसका प्रभाव दिल्ली पर महसूस किया जाता है।” इसके अलावा भारत में  हिमालयीन क्षेत्र, पूर्वोत्तर और अंडमान निकोबार द्वीपसमूह भूकंपीय क्षेत्र पांच के अंतर्गत आते हैं।

जम्मू एवं कश्मीर: सुबह-सुबह महसूस हुए भूकंप के झटके

6.7 तीव्रता के भूकंप में 120 लोग घायल, 19 लापता

Share.