एविएशन कंपनी का डायरेक्टर पकड़ाया

0

इंदौर में अपना फ्लाइंग क्लब संचालित करने वाले भाजपा नेता और लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन के बेटे मंदार महाजन से धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। यह ठगी अंतरराष्ट्रीय स्तर की बताई जा रही है। मंदार महाजन की शिकायत पर आरोपी को पुलिस ने मुंबई से गिरफ्तार किया है।

लोकसभा स्पीकर के बेटे मंदार महाजन से एयरक्राफ्ट इंजन सप्लाई करने के नाम पर ठगी की गई थी। यह कंपनी शारजाह की है। मंदार की शिकायत पर पुलिस ने एविएशन कंपनी के डायरेक्टर आनंद सुब्रहमण्यम के खिलाफ मामला दर्ज किया था। अब आरोपी को इंदौर कोर्ट में पेश किया जाएगा। इंटरपोल की सूचना पर कंपनी डायरेक्टर को मुंबई एयरपोर्ट से पकड़ा गया था, वो दोहा से मुंबई आया था।

फ्लाइंग क्लब सचिव मंदार महाजन ने शिकायत में बताया था कि नवंबर 2013 में आनंद सुब्रमण्यम ने अपनी कंपनी को यूएस बेस्ड बताकर खुद को नार्विक एयरो इंजन कंपनी का सब डीलर बताया था। उनके फ्लाइंग क्लब को पुराने एयरक्राफ्ट के लिए लाइकोमिंग इंजन की ज़रूरत थी, जिसे देने की कंपनी डायरेक्टर ने बात कही थी।

ई-मेल से आनंद सुब्रहमण्यम ने कोटेशन और कंपनी की जानकारी मंदार को भेजी थी। इंजन पहुंचाने का खर्च 34900 अमरीकी डॉलर यानी 21 लाख 86 हजार 750 रुपए बताया गया था। कंपनी को पूरा पैसा दिसंबर में सेंट्रल बैंक इंदौर की सियागंज शाखा से भेजा गया था। इंजन की डिलीवरी भुगतान होने के 4-5 हफ्ते में होना थी, लेकिन सुब्रहमण्यम इंजन की उपलब्धता नहीं होने का बहाना बनाकर डिलीवरी को टालता गया।

बाद में महाजन ने शारजाह में अपने दोस्त साजिद से संपर्क कर उसे आनंद की कंपनी की पड़ताल करने भेजा। महाजन के दोस्त ने जब उन्हें इंजन के फोटो भेजे तो वे ऑर्डर किए इंजन से अलग थे। इसके बाद महाजन ने सौदा रद्द कर दिया। बाद जब मंदार महाजन ने पैसे वापस मांगे तो कंपनी डायरेक्टर आनाकानी करता रहा।

बाद में इंदौर पुलिस ने इस मामले में पड़ताल की थी। इंदौर डीआईजी हरिनारायणचारी ने बताया कि आनंद के सऊदी अरब में होने की सूचना पर पुलिस ने इंटरपोल से मदद मांगी थी। बाद में दोहा, सउदी अरब से जब आनंद मुंबई पहुंचा तो इंटरपोल की सूचना पर एयरपोर्ट पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया। फिलहाल कंपनी डायरेक्टर मुंबई के सीएसआईएम थाने में है, वहां से क्राइम ब्रांच टीम उसे इंदौर लेकर पहुंचेगी।

Share.