देवकीनंदन महाराज गिरफ्तार और रिहा ..

0

आध्यात्मिक गुरु और जाने माने कथावाचक  ठाकुर देवकीनंदन को मंगलवार शाम चार बजे कमलानगर स्थित टेंप्टेशन रेस्टोरेंट से हिरासत में ले लिया गया। यहां से उनको पुलिस लाइंस भेज दिया गया। उनके साथ आधा दर्जन से ज्यादा समर्थक भी थे। आरोप है कि उन्होंने आगरा में अपने प्रवेश के प्रतिबंधित होने के बावजूद सभाके लिए  प्रेस कॉन्फ्रेंस की।

एससी/एसटी आंदोलन की अगुवाई करने वाले देवकीनंदन महाराज को हिरासत में लिए जाने से पहले डेढ़ घंटे तक वार्ता की गयी |लगभग दोपहर  सवा दो बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस को आए कथावाचक ने पन्द्रह मिनट के उद्बोधन में अपनी बात रखी|  वह जैसे ही रेस्टोरेंट से निकलने को हुए, क्षेत्रीय पुलिस  होटल में पहुंच गई। कथावाचक से रेस्त्रां में बने रहने को कहा। कुछ ही देर में सीओ एलआईयू, सीओ छत्ता, सीओ हरीपर्वत दल-बल के साथ मौके पर पहुंच गए।

अधिकारियों ने कथा वाचक से आगरा आगमन का कारण पूछा गया क्योंकि उनकी आगरा में  में प्रवेश की मनाही थी। इस आशय की जानकारी पुलिस अधिकारी ने उनको स्वयं  दी थी। इसके बावजूद वह आये और प्रेस वार्ता की | इस पर उन्होंने कहा  यहां भी उनका प्रयोजन सभा का नहीं था। वह तो शांति मधुवन प्लाजा स्थित अस्पताल में स्वास्थ्य लाभ कर रहे अपने गुरु का हालचाल लेने आए थे। पुलिस  ने उनकी दलील को नहीं माना।  कथा वाचक ने यहां तक कहा कि वह रेस्टोरेंट में ही बैठे रहेंगे। कहीं नहीं जाएंगे। लेकिन उनकी एक नहीं सुनी गई। हिरासत में ले लिया गया|पुलिस ने उनको धारा 151 के अंतर्गत शांति भंग होंने के आरोप में गिरफ्तार किया था बाद में देर शाम निजी मुचलके पर उनको पुलिस लाइंस से छोड़ दिया गया।

Share.