एनडी तिवारी का 21 अक्टूबर को हलद्वानी में होगा अंतिम संस्कार

0

दो राज्यों के मुख्यमंत्री रहे एनडी तिवारी का गुरुवार को निधन हो गया था| अब शनिवार को उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा| उनका शव शनिवार शाम पंत नगर ले जाया जाएगा| जहां से हलद्वानी के चित्रशील घाट पर अंतिम संस्कार किया जाएगा| वहीं अंतिम संस्कार से पहले उनके शव को लखनऊ भी ले जाया जाएगा जहां विधानसभा में उनके पार्थिव शरीर को दर्शन के लिए रखा जाएगा| शुक्रवार को नई दिल्ली में उनके निवास स्थान पर अंतिम दर्शन के लिए लोगों का तांता लगा रहा|

एनडी तिवारी के निधन के बाद पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने तिवारी को उनके घर जाकर श्रद्धांजिल दी| वहीं गुलाम नबी आजाद और अहमद पटेल ने भी उन्हें श्रद्धांजिल दी|

एनडी तिवारी दो राज्यों के मुख्यमंत्री थे, वे तीन बार उत्तरप्रदेश के तथा एक बार उत्तराखंड में मुख्यमंत्री रहे| वृद्धावस्था और गुर्दे की समस्याओं से जूझ रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री का दिल्ली के साकेत के मैक्स अस्पताल में गुरुवार को निधन हुआ था| उनकी पत्नी उज्जवला और बेटा रोहित शेखर उनके साथ ही थे| वे स्वतंत्रता के बाद 1952 में वह नैनीताल निर्वाचन क्षेत्र से विधायक बने थे| 1963 में वह कांग्रेस में शामिल हुए और 1994 में इस पार्टी से निकलकर उन्होंने अखिल भारतीय इंदिरा कांग्रेस नाम से अपनी पार्टी का निर्माण किया|

1996 में वह फिर से कांग्रेस में शामिल हो गए| उन्हें उत्तराखंड के विकास पुरुष के नाम से भी जाना जाता है| नारायण दत्त तिवारी वास्तव में विकासवादी नेता थे, उन्हें यूपी के विकास को नई दशा-दिशा दी और उत्तराखंड के विकास का रोडमैप तैयार किया| ये तिवारी ही थे, जिन्होंने न्यू ओखला इंडस्ट्रियल डेवेलपमेंट अथॉरिटी की कल्पना की और उसे जमीन पर उतारा| उस वक्त वो यूपी के मुख्यमंत्री हुआ करते थे|

Share.