सरकार लगवा कर देगी सौर ऊर्जा पेनल,नहीं देना होगा पैसा

0

सौर ऊर्जा के उपयोग को बढ़ावा देने के उद्देश्य से सरकार ने एक अहम निर्णय किया है। अब उपभोक्ताओं को सौर ऊर्जा पेनल लगाने में किसी भी तरह के खर्च का वहन नहीं करना होगा। यह योजना सिर्फ दिल्लीवासियों के लिए ही लागू की गई है। घरेलू बिजली की ज़रूरत के लिए सौर पेनल लगाना अब सुविधाजनक हो गया है।

अगर आप दिल्ली में रहते हैं और घरेलू बिजली की ज़रूरत के लिए सौर पेनल लगाना चाहते हैं तो आपके लिए अच्छी खबर है। दिल्ली सरकार के मंत्रिमंडल ने घरेलू उपयोग के लिए सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने के मद्देनजर मंगलवार को निर्णय लिया कि उपभोक्ताओं को सौर ऊर्जा पेनल लगाने में किसी भी तरह के खर्च का वहन नहीं करना होगा। दिल्ली सरकार 2016-17 से लेकर 2018-19 तक तीन साल के लिए सौर ऊर्जा उत्पादन पर प्रति यूनिट दो रुपए का उत्पादन आधारित प्रोत्साहन देती है। इसका वितरण सालाना आधार पर विद्युत वितरण कंपनियों को किया जाता है।

सरकार द्वारा जारी बयान के अनुसार, इसके लिए दिल्ली सरकार, सेवा प्रदाता तथा संबंधित आवासीय सोसायटी के बीच त्रिपक्षीय समझौता होगा। फिलहाल, दिल्ली में 100 मेगावॉट बिजली का उत्पादन सौर ऊर्जा से किया जा रहा है, जिनमें से अधिकतर सौर पेनल दिल्ली मेट्रो रेल निगम, दिल्ली जल बोर्ड, मंडोली जेल, आजादपुर मंडी और द्वारका न्यायालय जैसे सरकारी भवनों पर स्थापित किए गए हैं।

वर्तमान में सौर ऊर्जा के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय (एमएनआरई), भारत सरकार, द्वारा सब्सिडी भी दी जाती है। सौर पम्पसेट पर्यावरण के अनुकूल हैं और किसानों को जबरदस्त लाभ प्रदान करते हैं| इसमें परिचालन लागत बहुत कम है और ये निरंतर विद्युत आपूर्ति करते हैं, जिससे किसानों के कृषि उत्पादन और आय में वृद्धि होती है।

Share.