प्रकाश जावड़ेकर को केजरीवाल का जवाब

0

राजधानी दिल्ली में प्रदूषण की समस्या एक बार फिर दिल्ली सरकार परेशान हो उठीं है. पिछले कुछ दिनों से दिल्ली और एनसीआर के इलाकों में इसी मुद्दे पर केंद्र सरकार और दिल्ली सरकार में फिर बयानबाजी पर केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बयान दिया था, जिसपर अब दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जवाबमें कहा है कि बार-बार इनकार करने से कुछ नहीं होगा. अगर पराली जलने से सिर्फ चार फीसदी प्रदूषण हो रहा है तो फिर अचानक रात में ही कैसे प्रदूषण फैल गया? उससे पहले तो हवा साफ थी. यही कहानी हर साल होती है. कुछ ही दिनों में दिल्ली में प्रदूषण को लेकर ऐसा कोई उछाल नहीं हुआ है?

दिल्ली सीएम ने अपने ट्वीट में लिखा कि इस बात को मानना होगा कि हर साल उत्तर भारत में पराली जलने के कारण प्रदूषण फैलता है और इसे हमें साथ में मिलकर लड़ना होगा. राजनीति और एक दूसरे पर आरोप लगाने से कुछ नहीं होगा, लोगों को नुकसान हो रहा है. कोरोना के वक्त में इस तरह प्रदूषण का संकट चिंता का विषय है

गुरुवार को केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बयान दिया था कि दिल्ली में पराली की वजह से सिर्फ चार फीसदी प्रदूषण होता है, बाकि प्रदूषण यहां की ही लोकल समस्याओं के कारण होता है. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि दिल्ली में बायोमास जलती है. ये सभी कारक मिलकर राष्ट्रीय राजधानी में प्रदूषण संकट में योगदान करते हैं.

 

 

गौरतलब है कि हर साल की तरह इस साल भी दिल्ली में धुंध की समस्या शुरू हो गई है.

Share.