केजरीवाल ने पहले मोदी को आईना दिखाया, फिर एनआरसी के विरोध में प्रस्ताव पारित किया

0

दिल्ली विधानसभा में सरकार ने नेशनस पॉपुलेशन रजिस्टर और राष्ट्रीय नागरिकता पंजी (NRC) के खिलाफ प्रस्ताव पारित कर दिया। अरविंद केजरीवाल(Arvind Kejriwal Latest Speech) ने विधानसभा में अध्यक्ष से कहा कि ”अपनी नागरिकता साबित करने के लिए मेरे पास भी जन्म प्रमाण पत्र नहीं है। मेरी बीवी के पास भी नहीं है, मेरे मां-बाप के पास भी नहीं है। बस बच्चों के हैं। क्या दिल्ली के मुख्यमंत्री और उनके परिवार को डिटेंशन सेंटर में भेज दिया जाएगा? मेरी पूरी कैबिनेट के पास जन्म प्रमाण पत्र नहीं है। अध्यक्ष महोदय आपके पास भी नहीं है। ”

मुख्यमंत्री ने केंद्रीय मंत्रियों से कहा कि वे दिखाएं कि क्या उनके पास सरकारी एजेंसियों द्वारा जारी जन्म प्रमाण पत्र हैं? केजरीवाल ने विधानसभा में विधायकों से कहा कि यदि उनके पास जन्म प्रमाण पत्र हैं, तो वे हाथ उठाएं। इसके बाद दिल्ली विधानसभा(Delhi Vidhan Sabha) के 70 सदस्यों में से केवल नौ विधायकों ने हाथ उठाए। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘सदन में 61 सदस्यों के पास जन्म प्रमाण पत्र नहीं हैं। क्या उन्हेंडिटेंशन सेंटर भेजा जाएगा?”

दिल्ली विधानसभा ने राष्ट्रीय जनसंख्या पंजी (NPR) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) के खिलाफ शुक्रवार को प्रस्ताव पारित किया। एनपीआर और एनआरसी पर चर्चा के लिए बुलाए गए एक दिवसीय विशेष सत्र में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल(Arvind Kejriwal Latest Speech) ने केंद्र से इन्हें वापस लेने की अपील की। लेकिन इस दौरान जिस तरीके से इसे अरविन्द केजरीवाल ने समझाया उनका यह वीडियो अब सोशल मीडिया में काफी वायरल हो रहा है।

यदि आप एसबीआई के ग्राहक हैं तो आपको यह खबर देखनी चाहिए

कमलनाथ का 10 साल तक मुख्यमंत्री रहने का दावा

बिग-बी ने कोरोना को ठेंगा दिखाने के लिए पढ़ी यह कविता

 

Share.