राजनाथ सिंह का सेना को लेकर बड़ा ख़ुलासा

0

सोमवार को राज्यसभा (rajysabha ) में एक सवाल का जवाब देते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ( Defense Minister Rajnath Singh) ने कहा कि भारतीय सेना में जवानों और अधिकारियों की बेहद कमी है| उन्होंने लिखित उत्तर में कहा कि थल सेना में 45 हजार से ज्यादा जवानों की कमी है| इसमें लेफ्टिनेंट रैंक से ऊपर के 7000 से ज्यादा अधिकारियों की कमी भी शामिल है|

गृह मंत्री ने कहा कि एक जनवरी 2019 तक लेफ्टिनेंट से उपर की रैंक के 7399 पदों समेत कुल 45634 पद रिक्त हुए हैं| इससे निजात पाने के बारे में राजनाथ सिंह ने सदन में कहा कि पिछले तीन साल के दौरान देश के विभिन्न हिस्सों में 200 से अधिक भर्ती शिविर लगाए गए है | इस वर्ष 12 शिविर लगाए जा चुके हैं, जबकि 80 भर्ती शिविर लगाने की योजना है|

पाक सेना बलूचियों का अपहरण कर उनकी हत्या कर रही

रक्षा मंत्री ( Defense Minister Rajnath Singh) ने कहा कि सेना में रिक्त पदों के पीछे कई वजहें हैं| उन्होंने बताया कि सेना में भर्ती एक नियमित प्रक्रिया है| समय-समय पर भर्ती होती रहती है| उनकी माने तो सेना की चयन प्रक्रिया कड़ी है और अत्यधिक खतरा भी| साथ ही मुश्किल सर्विस कंडिशन्स भी|रक्षा मंत्री ने कहा कि सेना क्वालिटी से समझौता नहीं करती| इस दौरान उन्होंने आश्वस्त करते हुए कहा कि ट्रेनिंग पूरी कर सेना में शामिल हो रहे रिक्रूट्स से रिक्तियां भरी जा रही हैं| राजनाथ सिंह ने कहा कि सेना युवाओं को फौज के प्रति आकर्षित करने के लिए प्रचार पर खर्च भी करती है|

मप्र: तेंदुए की खाल की तस्करी करते 3 आरोपी हिरासत में

रक्षा मंत्री ( Defense Minister Rajnath Singh) ने कहा कि अंतिम तीन वित्तीय वर्ष (वित्तीय वर्ष 2016-17 से 2018-19 तक) में युवाओं को सेना के प्रति आकर्षित करने के लिए प्रचार पर आठ करोड़ रुपये से अधिक की धनराशि खर्च की गई है| बता दें कि इस बार सरकार के एजेंडे में सिमा सुरक्षा और रोजगार दो बड़े मुद्दे प्रमुखता से शामिल है|राजनाथ सिंह के पास NDA के पहले कार्यकाल में गृह मंत्रालय था जो, अब अमित शाह को दें दिया गया है वहीँ,  निर्मला सीतारमण को रक्षा मंत्रालय से हटाकर वित्त मंत्रालय दिया गया है | उनकी जगह राजनाथ सिंह को रक्षा मंत्रालय सौपा गया हैं|

इंदौर-उज्जैन संभाग में भारी बारिश की चेतावनी, अलर्ट जारी

Share.