दीप सिद्धू ने पूछताछ में की कई खुलासे

0

दिल्ली में 26 जनवरी को हुई हिंसा के मामले के मुख्य आरोपी दीप सिद्धू ने पूछताछ के दौरान खुलासा किया कि वह भावुक होकर किसानों के साथ जुड़ गया था. दीप सिद्धू ने कहा उसका जुड़ाव किसी कट्टरपंथी संगठन से नहीं है, लेकिन वो तोड़फोड़ वाली विचारधारा में विश्वास करता है.

दीप सिद्धू ने कहा कि उसे शक था कि सरकार के साथ बातचीत में और दिल्ली पुलिस के साथ ट्रैक्टर रैली के दौरान किसान नेता नरम हो रहे थे, लॉकडाउन के दौरान और बाद में दीप सिद्धू को कोई काम नहीं मिला था और अगस्त में जब किसान आंदोलन पंजाब में शुरू हुआ, तो वह इसके प्रति आकर्षित हो गया था.

दीप सिद्धू ने बताया कि जब वह विरोध स्थलों पर जाता था तो युवा बड़ी संख्या में आते थे. वह 28 नवंबर को किसानों के साथ दिल्ली पहुंचा. गणतंत्र दिवस परेड से कुछ दिन पहले सिद्धू ने अपने समर्थकों के साथ निर्धारित मार्ग को तोड़ने का फैसला किया. दीप सिद्धू ने तब अपने समर्थकों से कहा था कि वे वॉलंटियर के जैकेट चुराएं.इससे पहले दिल्ली पुलिस ने सुखविंदर सिंह को गिरफ्तार किया था. वो शुरू से ही विरोध का हिस्सा था, उसे लाल किले के लाहौरी गेट पर देखा गया था. 2 फरवरी को उसने गाजीपुर बॉर्डर पर राकेश टिकैत से कथित रूप से मुलाकात की थी और 6 फरवरी को चक्का जाम में भाग लिया था.

Share.