फूल बेचने को लेकर विवाद

0

उज्जैन में महाकाल मंदिर के बाहर फूल बेचने वाली दो महिलाओं में विवाद हो गया। विवाद देखते-देखते इतना बढ़ गया कि बात हाथापाई पर उतर आई और मंदिर स्थल कुश्ती के मैदान में बदल गया। इस विवाद में महिलाओं के साथ-साथ पुरुष भी शामिल हो गए। भक्तों को फूल बेचने को लेकर हुए इस विवाद की शुरुआत बहस से हुई और बाद में महिलाएं एक-दूसरे के बाल खींचने लगीं।

देखते ही देखते इस विवाद में दोनों पक्षों के पुरुष भी शामिल हो गए। यह लड़ाई देखकर आसपास के लोग इसे ‘डब्ल्यूडब्ल्यूई’ की लड़ाई कहने लगे। दोनों पक्ष मंदिर परिसर के बाहर एक-दूसरे को ईंट-पत्थर और रॉड से मारने लगे। विवाद इतना बढ़ गया कि व्यक्ति दूसरे पक्ष की महिला को रॉड से मारने लगा।

बड़ी बात यह है कि इस पूरी घटना के दौरान कोई भी पुलिसकर्मी वहां दिखाई नहीं दिया। आसपास के लोगों ने बताया कि वहां आए दिन इस तरह के झग़डे होते रहते हैं, लेकिन इन पर ध्यान देने वाला कोई नहीं है। नवागत कलेक्टर मनीष सिंह लगातार दौरा कर उज्जैन के महाकाल मंदिर की व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने में जुटे हैं, लेकिन सालों से यहां जमे फूल दुकानदार इस मंदिर की छवि को बिगाड़ रहे हैं।

Share.