प्रियंका चतुर्वेदी: मुंह में राम, बगल में नाथूराम

0

सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को अयोध्या में  नमाज पढ़ने के मामले में बड़ा फैसला सुनाया| कोर्ट के फैसले के बाद से ही इस पर बवाल शुरू हो गया| दरअसल, कांग्रेस की ओर से प्रियंका चतुर्वेदी ने आधिकारिक बयान जारी किया गया, जिसमें कहा गया कि वे कोर्ट ने फैसले का सम्मान करते हैं| पार्टी का हमेशा से ही यह विचार रहा है|

अदालत का फैसला आने के बाद कांग्रेस प्रवक्ता  प्रियंका चतुर्वेदी  ने कहा, “दुखद है कि भाजपा राम के नाम पर राजनीति करती है| उनके मुंह में राम और बगल में नाथूराम है| भगवान राम के नाम पर वोट बटोरते हैं और सत्ता मिलने के बाद कैकयी की तरह राम को वनवास भेज देते हैं|”

उन्होंने आगे कहा, “भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) राहुल गांधी की शिवभक्ति हो, चाहे बद्रीनाथ हो या मानसरोवर यात्रा हो, को लेकर ही सवाल खड़े करती रहती है| यह भाजपा की बौखलाहट है| वे जान लें कि ईश्वर की भक्ति भारतीय सभ्यता का अटूट अंग है| भगवान भाजपा को सद्बुद्धि दे कि वह आस्था पर राजनीति न करे|

गौरतलब है कि इसके पहले कोर्ट का फैसला आने के बाद कांग्रेस ने बोलने से मना कर दिया था| पहले ऐसा कहा जा रहा था कि पार्टी संवेदनशील मुद्दे पर विवाद नहीं चाहती| पार्टी प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी की ओर से इस मुद्दे पर छोटा सा आधिकारिक बयान जारी किया जा सकता है|

‘थाईलैंड की अयोध्या’ में बन रहा भव्य राम मंदिर

एससी-एसटी एक्ट पर भगवान के गलत फ़ैसले!

Share.